गाज़ीपुर से सीट नहीं मिली तो नहीं लडूंगा चुनाव- मनोज सिन्हा - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Friday, 18 January 2019

गाज़ीपुर से सीट नहीं मिली तो नहीं लडूंगा चुनाव- मनोज सिन्हा

पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए केंद्रीय रेल व संचार राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने विश्वास दिलाया है कि 2019 का चुनाव भी प्रधानमंत्री मोदी ही जितने वाले हैं. इसके साथ ही उन्होंने उम्मीद भी की है कि इस बार भी प्रधानमंत्री मोदी लोकसभा के लिए वाराणसी को ही चुनेंगे. रेल मंत्री का कहना है कि मोदी की अगुआई में पूर्वांचल का विकास हो रहा है और इस समय कुल  88 हजार करोड़ रुपए की परियोजनाओं पर काम हो रहा है. इसके साथ सिन्हा का कहना है कि अगर उन्हें गाज़ीपुर से चुनाव नहीं लड़ने दिया गया तो वो कहीं से भी चुनाव नहीं लड़ेंगे.
बता दें कि पहले ऐसी चर्चा थी मनोज सिन्हा को उनकी घरेलू सीट इस बार छोड़नी पड़ सकती है। शुक्रवार को बीजेपी के काशी प्रांत कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्होंने यह बात कही। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वाराणसी से चुनाव जीतने के बाद देश में आजादी के बाद से उपेक्षित पड़े पूर्वांचल में पहली बार विकास तेजी से हो रहा है। मनोज सिन्हा ने कहा कि बीजेपी 2019 में एक बार फिर बड़ी जीत दर्ज कर बहुमत के साथ केन्द्र में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में दोबारा सरकार बनाने जा रही है। उन्होंने कहा, 'जनता भी पिछली सरकारों में गठबंधन के खराब अनुभवों को नजरअंदाज नहीं करेगी। जनता को तय करना है कि क्लर्क प्रधानमंत्री चाहिए या काम करने वाला प्रधानमंत्री।' मोदी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए उन्होंने कहा कि देश का तेजी से विकास हो रहा है। उन्होंने कहा, 'आज देशभर में सबका साथ सबका विकास के मंत्र के सहारे जन-जन के कल्याण के लिए 129 योजनाएं चल रही हैं, जिसके चलते छह करोड़ गरीबों के घर उज्ज्वला योजना से गैस चूल्हा के साथ 9 करोड़ घरों में शौचालय का निर्माण करने के साथ 33 करोड़ लोगों को बैंक खाता खुलवाने के साथ 18 करोड़ लोगों को बीमा के तहत सामाजिक सुरक्षा दी गई है।' मनोज सिन्हा ने कहा, 'आज भारत की अर्थव्यवस्था फ्रांस को पीछे छोड़कर दुनिया में छठवें नंबर की बन गई है। वह दिन दूर नहीं जब भारत की अर्थव्यवस्था इंग्लैंड को पीछे छोड़कर पांचवें नंबर पर पहुंच जाएगी।' केंद्र सरकार द्वारा संविधान संशोधन करके गरीब सवर्णों को दस प्रतिशत आरक्षण देने के फैसले को ऐतिहासिक करार देते हुए मनोज सिन्हा ने कहा कि आजादी के बाद पहली बार इस तबके के कल्याण के बारे में विचार किया गया है।

No comments:

Post a Comment