वाराणसी - PM के संसदीय क्षेत्र काशी में कट रहे हैं सैकड़ों जानवर, बह रहा नदियों में खून - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Thursday, 31 January 2019

वाराणसी - PM के संसदीय क्षेत्र काशी में कट रहे हैं सैकड़ों जानवर, बह रहा नदियों में खून


कैलाश सिंह विकास ब्यूरो वाराणसी


स्वच्छता की बात करने वाले पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में ही स्वच्छता अभियान फेल होता नजर आ रहा है। वाराणसी में गंगा की सहायक नदियों में पशुओं का खून खुलेआम बह रहा है। यूपी रिवर एंड वाटर रेसेरवोयर्स (जलाशय ) मॉनिटरिंग कमेटी एवं यूपी सॉलिड वेस्ट मैनजमेंट मॉनिटरिंग कमेटी की जांच में वाराणसी फेल हो गया। इस्टर्न यूपी रियर एण्ड वाटर रिजर्वायर्स मानीटरिंग कमेटी व यूपी सालिड वेस्ट मैनेजमेंट मानीटरिंग कमेटी लखनऊ के चेयरमैन अवकाश प्राप्त न्यायमूर्ति देवी प्रसाद सिंह ने इस बात की पुष्टि की।रिटायर्ड हाईकोर्ट जज देवी प्रसाद सिंह पिछले तीन दिनों से शहर में मेडिकल वेस्ट, कूड़ा प्रबंधन और अन्य चीजों का निरीक्षण कर रहे थे।सैकड़ों की संख्या में कट रहे जानवर अवकाश प्राप्त हाईकोर्ट के जज डीपी सिंह ने बुधवार को सर्किट हॉउस में वाराणसी का रिपोर्ट कार्ड पढ़ा तो सभी के होश उड़ गए। उन्होंने कहा कि वरुणा नदी का हाल बदतर है जबकि ये वाराणसी में गंगा की मुख्य सहायक नदी है।




हमने एक घनते तक इसको देखा तो एक नाले से एक घंटे तक लगातार खून और मांस के टुकड़े वरुणा में प्रवाहित होते रहे। पता चला ये नाला अर्दली बाज़ार स्लाटर हॉउस का है। एक घंटे तक खून का नदी में गिरना यह बताता है कि कितनी संख्या में जानवर कट रहे हैं प्रशासन और लोकल पुलिस चाहे तो इसे रोक सकती है।असि की दुर्दशा चौकाने वालीचेयरमैन देवी प्रसाद सिंह ने बताया कि पहले दिन बीएचयू का निरीक्षण कर लौटते समय असि नाले को देखने का मौक़ा मिला। उसके किनारे जो स्थिति है वो चकराने वाली है। नाले की तरह बह रही है असि नदी। दशा खराब नहीं बल्कि इसकी दुर्दशा है।नगर निगम का कूड़ा दे रहा मुफ्त बिमारी अवकाश प्राप्त जज और इस्टर्न यूपी रिवर एंड वाटर मानिटरिंग कमेटी के चेयरमैन देवी प्रसाद सिंह ने कहा कि नगर निगम का जो गार्बेज डंपिंग एरिया है ये इन्वायरमेंट पर असर डालता है। हमें सड़क किनारे तो गन्दगी नहीं मिली लेकिन जो इंफ्रस्ट्रक्चर है उसे सही करने की आवश्यकता है। नगर निगम ने हमें 600 मीट्रिक टन कूड़ा रोज़ उठाने की बात बताई है लेकिन उसके ट्रीटमेंट की वयस्था नहीं है और तेज़ हवा में जब यह कूड़ा उड़ता है तो सभी को दमा, अस्थमा जैसी बीमारियाँ मुफ्त में बांट रहा है।बनारस के प्रमुख अस्पताल खुद बीमार अवकाश प्राप्त न्यायमूर्ति देवी प्रसाद सिंह ने कहा कि बनारस में हॉस्पिटल का मैनेजमेंट बहुत अच्छा नहीं है। यहां के लोग उस सर्वे को सच साबित कर रहे हिं जिसमे कहा गया है कि अस्पताल से मरीज़ एक बिमारी ख़त्म करवाकर 5 नई बिमारी लेकर अपने घर जा रहा है। उन्होंने बताया कि जब ट्रामा सेंटर पहुंचा तो पहले तो कमरा ही नहीं खोला पर बाद में खोला तो स्थिति सही नहीं थी। वैसे ही बीएचयू के अस्पताल का भी हाल है।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।