उन्नाव - कैबिनेट मंत्री का हमला .... - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Tahkikat News: Latest Video.

Friday, 22 February 2019

उन्नाव - कैबिनेट मंत्री का हमला ....

रिपोर्ट - विशाल सिंह

उत्तर प्रदेश के उन्नाव में बाल श्रम निषेध के कार्यक्रम में  बीजेपी के कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य शिरकत करने आये कार्यक्रम में दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम को बढ़ाया और लोगो को बाल श्रम निषेध के प्रति लोगो को बताया वही कार्यक्रम के कुछ समय बाद स्वामी प्रसाद मौर्य पत्रकारों से रूबरू हुए और जमकर बयानबाजी की और पुलवामा में आतंकवादियों द्वारा सेना पर हमले किये जाने पर आतंकवादियों को आड़े हाथ लिया उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री सानिध्व रूप से  सेना को आजादी दिए है कि किसी तरीके से जो भी आतंकवादी ताकते है उनको मुहतोड़ जवाब देने के लिए  किसी भी हद तक जाना पड़े आगे बढे, सेना ने अपने मंसूबे जता दिए है कि हमारे देश पर आंख दिखाने वाले कोई भी आतँकवादी किसी के भी संरक्षण में क्यो न हो हम उनके घर मे घुसकर मारेंगे उनको छठी का दूध उनके आँगन में दिलाएंगे। आतंकवादियों को ठिकाने पर लाने के लिए काम हो रहा है वही धारा 370 हटाये जाने का यही सही समय है इस पर कहा कि अभी शहीदों के बलिदान का बदला लेना है पहली प्राथमिकता ये है और उसके बाद देश के सम्मान में जो भी आवश्यक कदम  होंगे उठाये जाएंगे ।




इसमे कोई दो रॉय नही की पुलवामा में जो हमारे जवान शहीद हुए है आज पूरा देश उनके सम्मान में खड़ा है और उनका बलिदान कभी व्यर्थ नही जाएगा ये हमारी सरकार का भी संकल्प है माननीय प्रधानमंत्री सनिध्व रूप से सेना को आजादी दिए है की किस तरीके से जो भी आतंकवादी ताकते है उनको मुहतोड़ जवाब देने के लिए किसी भी हद तक जाना पड़े आगे बढ़े और साथ ही साथ इसके पहले सर्जिकल स्ट्राइक करके हमारी सेना ने आतंकवादियों को ठिकाने पर लाने का काम भी किया है और सेना ने अपने मंसूबे भी जता दिए है की हमारे देश पर आंख दिखाने वाले कोई भी आतंकवादी किसी के भी संरक्षण में क्यो न हो हम उनके घर मे घुसकर मारेंगे उनको छठी का दूध उनके आंगन में दिलाएंगे और साथ ही साथ और ऐसे आतंकवादियों को मुह तोड़ जवाब देंगे उन शहीदों के सम्मान में किसी भी हद तक आज सबसे बड़ा ज्वलंत समस्या शहीदों के सम्मान का है आतंकवादियों को ठिकाने पर लाने का है इस दिशा में अभी काम हो रहा है आगे और भी अभी शहीदों के बलिदान का बदला लेना है पहली प्राथमिकता ये है और इसके बाद देश के सम्मान में जो भी आवश्यक कदम होंगे वो उठाये जाएंगे

No comments:

Post a Comment