वाराणसी-NDRF ने संयुक्त माँक अभ्यास से जनता को सिखाए आपदा प्रबन्धन के तरीके - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Thursday, 18 April 2019

वाराणसी-NDRF ने संयुक्त माँक अभ्यास से जनता को सिखाए आपदा प्रबन्धन के तरीके



ब्यूरो वाराणसी-कैलाश सिंह विकास  

डीजल लोकोमोटिव वर्क्स, वाराणसी के सिनेमा क्लब में आज 18/04/2019 को  आपदा प्रबन्धन पर आधारित एक संयुक्त माँक एक्सरसाइज का आयोजन किया गया l जिसमे NDRF, अग्निशमन, नागरिक सुरक्षा, नेहरु युवा केंद्र ,एन .सी .सी, एन .एस .एस , सी .आर. पी .एफ, स्काउट एंड गाइड ,पुलिस ,ट्रैफिक पुलिस ,नगर निगम ,एस .डी .आर .एफ ,उ० प्र० होम गार्ड ,ट्रामा सेंटर बी० एच० यू० ,जिला स्वस्थ्य विभाग ,सूचना विभाग ,डी० .एल० .डब्ल्यू० ,के० वी० ,सैंट जोहन्स स्कूल ब्रिगेड , शिक्षा विभाग ,  जिला प्रशाशन व अन्य एजेंसिओं ने भाग लिया | 

इस माँक अभ्यास में आपसी सामंजस्य के साथ मल्टीप्ल हज़ार्ड्स के दृश्यों पर खोज एवं बचाव का कार्य किया गया l  जब आपातकालीन अलार्म बजा तो लोगो की समझ में यही आया कि यहाँ वास्तव में कोई बड़ा भूकम्प आया है l जिससे सिनेमा क्लब की बिल्डिंग क्षतिग्रस्त हो गयी हैं अलार्म के बाद होमगार्ड और स्थानीय हितधारकों के साथ की रेस्क्यू टीम ने, उचित तरीकों से जमीन पर पड़े पीड़ितों का रेस्क्यू किया और मेडिकल बेस तक पहुचाया l उसके बाद विशेषज्ञ रेस्क्यू टीम के तौर पर एस. डी.आर.एफ एवं एन.डी.आर.एफ को बचाव कार्य के लिए बुलाया गया l इन  रेस्क्यू टीमों ने सबसे पहले घटना स्थल को सुरक्षित करते हुए रेस्क्यू ऑपरेशन को शुरू किया l साथ ही अपने ऑपरेशन बेस को स्थापित किया l सर्च करने के बाद पाया गया कि कई विक्टिम मलबे में गम्भीर रूप से दबे पड़े है l तत्काल एन.डी.आर.एफ की CSSR टीम ने कुशलता दिखाते हुए अपने कटिंग उपकरणों से मलबे को काटते हुए विक्टिम को निकालकर चिकित्सीय सहायता पहुचायी l वहाँ उपस्थित जनता इन दृश्यों को देखकर हैरान थी 

अभी बचाव कार्य चल ही रहा था कि दुबारा भूकम्प के झटके महसूस किए गए और सिनेमा क्लब   के कुलिंग सिस्टम से अमोनिया गैस का रिसाव होने लगा l एन.डी.आर.एफ. की CBRN टीम ने तत्काल मोर्चा सम्भाला और रिसाव को बंद करते हुए सभी प्रभावितो को सुरक्षित बाहर निकालकर उचित चिकित्सा दी l इसी दौरान सिनेमा क्लब की ऊपरी  मंजिल पर आग लग गई थी, जिसे DLW की फायर रेस्क्यू टीम और अग्निशमन विभाग ने काबू किया l माँक ड्रिल के आखिरी दौर में यह पता चला कि आखिरी मंजिल पर भी कुछ लोग फसे हुए हैं  और आग के कारण नीचे आने और उपर जाने के सभी रास्ते बंद हो गए है l एन.डी.आर.एफ और एस.डी.आर.एफ की हाई राइज रेस्क्यू टीम ने अपनी कुशलता और सूझ-बुझ का परिचय देते हुए रोप रेस्क्यू के माध्यम से सभी फंसे लोगों  को सकुशल बाहर निकालकर चिकित्सा दी l जब अंत में एन.डी.आर.एफ के रेस्कुएर्स फसे हुए लोगों को अपने साथ बांधकर  नीचे उतरें तो वहाँ उपस्थित हर कोई इन हैरतअंगेज प्रदर्शनो को देखकर दंग रह गए और उन्हें सम्मान देते हुए तालियों की गडगडाहट से स्वागत किया l उपस्थित जन समूह तथा अधिकारीयों  ने एक स्वर में कहा कि इस तरह का अभ्यास निश्चित ही आपदा प्रतिरोधक समाज के निर्माण में सहायक होगा l 

इस मेगा माँक अभ्यास सामंजस्य का मुख्य उद्देश सभी एजेंसियों का आपदा की स्थिति में रिस्पांस चेक करना, आपसी सूचनाओं,संसाधनों व कार्य योजनाओं का समन्वय व इसके क्रियान्वयन में होने वाली कमियों को दूर करना है तथा आम जन को आपदाओं से लड़ने हेतु जागरूक करना है I 

इसके पश्चात फाइनल सर्च और डी-ब्रीफिंग के साथ माँक अभ्यास को समाप्त घोषित किया गया एन.डी.आर.एफ ने खोज एवं बचाव में प्रयुक्त होने वाले अति आधुनिक उपकरणों की एक प्रदर्शनी भी लगायी 
इस माँक अभ्यास में मुख्य अतिथि रश्मि गोयल महाप्रबंधक DLW आलोक कुमार सिंह, डीआईजी, 11वीं एनडीआरएफ, सुरेन्द्र सिंह ,जिला अधिकारी वाराणसी,आनंद कुलकर्णी, एस०एस०पी०वाराणसी,असीम उपाध्याय, डिप्टी कमान्डेंट 11वीं एनडीआरएफ,सतीश पाल, ए०डी०एम० वाराणसी,महेश कुमार, मुख्य सुरक्षा अधिकारी DLW  एवं  सिविल डिफेंस, स्काउट एंड गाइड, NYK, NSS, के पदाधिकारीयों के साथ-साथ कुल  लगभग 4000 लोग उपस्थित थे l

No comments:

Post a Comment