कानपुर - विश्व के सबसे बडे लोकतंत्र भारत के चुनाव पर बनी डाॅक्यूमेंट्री - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 27 May 2019

कानपुर - विश्व के सबसे बडे लोकतंत्र भारत के चुनाव पर बनी डाॅक्यूमेंट्री



ब्यूरो कानपुर रवि गुप्ता

विश्व के सबसे बडे लोकतंत्र भारत जो, चुनावी समर से गुजरा है, जहां  11 मिलियन निर्वाचन अधिकारी,, 300 मिलियन से ज्यादा मतदाता और 8 हजार उम्मीदवार विश्व के सबसे बउे प्रजातांत्रिक सभयास में शिरकत करने के लिए 1 मिलियन निर्वाचन बूथो में जुटे थे और नेशनल जिओग्राफिक ने इस ग्रेट इंडियन इलेक्शन केा कवर किया। चुनाव के 6 अद्धभुत महीनो का अभयान और इसकी कहानी को मल्टी क्रू प्रोडशन ने देश के 37 कोनो पर कवर किया, और विश्व के सबसे बडे चुनाव की कहानी अब सबके सामने है। इस डाॅक्यूमेंट्री पर मुख्य चुनाव आयुक्त ने भी अपनी प्रतिक्रया व्यक्त की है। एक कार्यक्रम के दौरान बताया गया कि इस भौगोलिक और सामाजिक-राजनीतिक तौर से भरपूर विविधता वाले देश की इस डाक्यूमेंट्री दिल्ली निर्वाचन आयोग के हाई पावर कारिडोर, भारत चीन सीमा, तमिलनाडू के सघन क्षेत्र, छत्तीसगढ की नाजुक स्थित वाले स्थानो पर मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोडा ने कहा चुनाव की जटिल प्रक्रिया के बीच में मतदाताओं की सुविधा और समस्याओं का ध्यान रखना न केवल लाॅजिस्टिक तौर पर एक चुनौती है, बल्कि इसके लिए हर मतदाता तक पहुंचने के लिए एक प्रभावशाली आउटरीच प्रोग्राम की जरूरत भी होती है। विश्व के सबसे बडे चुनाव केा सफलतापूर्वक सम्पन्न कराने के लिए यह एक टेस्टामेंट है। कहा यह देखकर अच्छा लग रहा है कि नेशनल जिओग्राफिक ने इसे कवर किया और इस चुनौतीपूर्ण यात्रा को निष्पक्ष तरीके से जनता के बीच रखा। गायत्री यादव ने कहा यह लोकतंत्र की कहानी बयां करती है जो पूरी दुनिया के लिए प्रासंगिक है और अब आम लोगो केा बडे लोकतांत्रिक अभयास की जटिलताओं और व्यापकता को समझने का मौका मिलेगा। उन्होने कहा यह कहानी देख गर्व महसूस होता है।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।