कानपुर - घुटनो के दर्द का सफल इलाज कानपुर में संभव - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 27 May 2019

कानपुर - घुटनो के दर्द का सफल इलाज कानपुर में संभव

ब्यूरो कानपुर रवि गुप्ता

उम्र बढने के साथ-साथ अधिकांश लोगों में गठिया यानी घुटनो, कर्म या जोडो का दर्द शुरू हो जाता है, तमाम इलाज के बाद यह बीमारी समाप्त नही होती बल्कि उम्र बढने के साथ साथ बढती जाती है। वहीं कमर के मरीज भी काफी बढ रहे है। अनियमित खान-पान तथा अनियमित दिनचर्या इसका बडा कारण है। हम घंटो एक पोजीशन पर बैठकर काम करते है जिससे हमारे बैक बोन तथा पैर की हड्डियो में प्रभाव पडता है। शरीर को पूर्ण रूप से कैल्शियम, विटामिन न मिलना भी इसका बडा कारण है। आज कानपुर में घटनो का इलाज संभव है और एक हजार से ज्यादा लोग अपने घुटनो का सफल आॅपरेशन करा चुके है। यह बात एक कार्यक्रम के दौरान डा0 गौरव गुप्ता ने कही। उन्होने कहा जोडो के दर्द का कोई इलाज नही है, इसकी मात्र आॅपरेशन ही रास्ता है। बताया कि आज घुटना प्रत्यारोपण काफी सरल तरीका है जिसमें लगभग दो घंटे के आॅपरेशन में घुटना बदल दिया जाता है और 12 घंटे में ही मरीज आराम से चलने फिरने लगता है। तेज काम तथा भारी काम के लिए मरीज को एक से डेढ माह का समय लग जाता है। 


वहीं लाल बंगला जेके काॅलोनी क्लीनिक में मौजूद एक आॅपरेशन करा चुरी मरीज दीप्ति मिश्रा ने बताया कि वह काफी लंबे समय से घुटने के दर्द से परेशान थी और आॅपरेशन के बाद अब वह सामान्य रूप से कार्य कर रही है। उन्होने बताया कि उन्होने एक वर्ष पहले आॅपरेशन कराया था। इसी प्रकार दिनेश चंद्र निवासी पटेल नगर ने बताया कि उन्होने अपने कूल्हे का प्रत्यारोपण कराया था अव वह सामान्य रूप से कार्य करते है। डा0 गौरव गुप्ता ने बताया कि आज व्यक्ति शारीरिक श्रम नही करता, एक्सरसाईज नही करता और एक ही पोजीशन पर घंटो बैठा रहता है इसका असर रीढ की हडडी, कूल्हे तथा गांठो के साथ जोडो पर पडता है। उन्होने कहा आॅपरेशन से इस समस्या से पीछा आसानी से छूट जाता है। बताया उन्होने अभी तक एक हजार से ज्यादा आॅपरेशन किये है और सभी सफल रहे है सभी मरीज आज आराम से सामन्यरूप से अपना जीवन यापन कर रहे है। उन्होने सलाह दी कि नियमित व्यायाम करे, शरीर को कैल्शियम तथा विटामिनपूर्ण आहार दे और अपनी दिनचर्या में परिर्वतन करे ताकि जिन्दगी बेहतर हो सके।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।