बस्ती उपजिलाधिकारी को पांच सूत्रीय ग्यापन सौंप आन्दोलन की दी चेतावनी - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Sunday, 21 July 2019

बस्ती उपजिलाधिकारी को पांच सूत्रीय ग्यापन सौंप आन्दोलन की दी चेतावनी

रिपोर्ट - राजित राम यादव

आज चौकड़ी टोल हटाने, अण्डरपास बनाने, व बाढ़ क्षेत्र में ठोकर बांध निर्माण की मांग करते हुए जिलाधिकारी, मुख्यमंत्री, राज्यपाल, भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण को  सम्बोधित पत्र उपजिलाधिकारी हर्रैया को सौंपकर समाजसेवी चन्द्रमणि पाण्डेय सुदामा जी ने वादा खिलाफी का आरोप लगाते हुए जनहित में शीघ्र मांगों के निस्तारण की मांग की है अपने भेजें पत्र में श्री पाण्डेय ने बताया कि पूर्वांचल की सबसे गंभीर समस्या बाढ़ व कटान से प्रभावित बस्ती जिले के कटान प्रभावित गांवों में ठोकर बांध बनवाने,बस्ती को मच्छर मुक्त बनाने हेतु गांवों में मच्छर मुक्ती के दवा छिड़काव, 60किमी की परिधि की अनदेखी कर बस्ती में महज 40किमी की दूरी पर स्थापित दो टोल में से पोखरे की जमीन पर निर्मित चौकड़ी टोल हटाने,। जनपद के राम-जानकी तिराहा छावनी मुरादीपुर चौराहा हर्रैया व कप्तानगंज सहित प्रमुख चौराहों पर अण्डरपास निर्माण कराने व अण्डरपास के अभाव में दुर्घटना के शिकार लोगों को प्रतिपूर्ति देने की मांग वर्ष 2015से चल रही है जिसको लेकर न केवल पत्राचार किया गया अपितु की बड़े आन्दोलन भी हुए


 किन्तु हर बार महज लिखित मौखिक आश्वासन मिलता है यहां तक कि भूतल परिवहन मंत्रालय द्वारा भी आश्वासन मिल चुका है किन्तु राजनीतिक श्रेय के चक्कर में अब तक कोई कार्य शुरू नहीं हुआ उन्होंने बताया कि दुबौलिया के तर्ज पर यदि ड्रेजिंग कर सरयु की धारा जिले की सीमा पर मोड़ने का काम नहीं हुआ तो सरयु पर बना पुल व हाइवे भी कटान के चपेट में आ जायेगा उन्होंने बताया कि शिथिलता इस कदर है कि टोल प्लाजा चौकड़ी के टोल कर्मी गुण्डई करते हैं बीते 8 भी के मेरे ही पास लगे चुनाव वाहन को रोक गाली गलौज व मारपीट हुआ जिसकी रिपोर्ट चुनाव आयोग व जिलाधिकारी के निर्देश पर मेरे चालक व मेरा चोट जांच कराकर 9मई को दर्ज तो हुआ किन्तु आज तक कोई कार्यवाही नहीं हुई यदि जनहित में मेरे मांगों का निस्तारण शीघ्र नहीं हुआ तो हमें बड़े आन्दोलन या आमरण-अनशन हेतु मजबूर होना पड़े जिसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी इस मौके पर बृजेश यादव विवेक पाण्डेय सन्तोष पाठक अर्जुन बर्मा विजय चौहान अतुल पाण्डेय नवीन पाण्डेय मौजूद रहे

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।