बस्ती जिले के बभनान में सांँड का आतंक - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Sunday, 14 July 2019

बस्ती जिले के बभनान में सांँड का आतंक

रिपोर्ट - राजित राम यादव

 सांँड ने ली रेलवे से रिटायर कर्मचारी की जान सांँड के आतंक से बभनान कस्बे की जनता दहशत में मृतक  के  परिजनों ने लाश को रखकर गोंडा बस्ती मार्ग को किया जाम इस संबंध में जिला अधिकारी बस्ती डॉ राजशेखर ने कहा बस्ती से टीम भेजी जा रही है सांँड को पकड़ने के लिए।बस्ती जिले  के बभनान बाजार में दिखा साँड़ का आतंक नगर पंचायत बभनान के जिम्मेदार कर्मचारियों की लापरवाही  ने ली बुजुर्ग की जान ले ली वहीं रिटायर रेल कर्मचारी संतराम को सांँड ने दौड़ा-दौड़ा कर मार डाला नाराज परिजनों ने गोंडा बस्ती मार्ग  को बभनान कस्बे में किया जाम । शासन के निर्देश के बावजूद भी खुलेआम बाजारों में घूम रहे छुट्टा पशु ।नगर पंचायत के अधिकारी व कर्मचारी छुट्टा पशुओं को पकड़ने में कर रहे आनाकानी वहीं परिजनों ने आरोप लगाया कि अगर नगर पंचायत बभनान के कर्मचारियों द्वारा सांँड को पकड़ लिया गया होता तो शायद आज रिटायर कर्मचारी संतराम की जान सांँड नहीं लेता
 

आए दिन पूरे कस्बे में सांपों का आतंक रहता है वहीं यह भी आरोप लगाया कि जब हम लोग कस्बे में मना हॉस्पिटल इलाज के लिए लेकर गए तो वहां डॉक्टर अस्पताल में ताला बंद कर फरार थे ना यहां अस्पताल पर एंबुलेंस की सुविधा है ना ही डॉक्टर यहां रहते हैं अगर सही समय पर इलाज हो जाता तो शायद रिटायर कर्मचारी संतराम की जान बच जाती वही मोहल्ले वासियों ने बताया कि आए दिन या सांँड लोगों को दौड़ा-दौड़ा कर मारता है कई घटना कर चुका लेकिन नगर पंचायत के अधिकारी कर्मचारी इन छुट्टा पशुओं को पकड़ नहीं रहे हैं साथ ही कई घंटों तक बस्ती गोंडा मार्ग जाम रहा उपजिलाधिकारी हर्रैया के आश्वासन पर जाम खोला गया मौके पर पुलिस लाश को कब्जे में लेकर पीएम के लिए भेजा विजुअल सैकडो लोगो ने लाश रखकर सड़क पर प्रदर्शन करते हुए परिजन और मोहल्ला वासी

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।