वाराणसी - मानस से संस्कारित हो सकता हे समाज - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Friday, 9 August 2019

वाराणसी - मानस से संस्कारित हो सकता हे समाज




जिला सवाददाता -कैलाश सिंह विकाश 

 गोस्वामी तुलसीदास जी के जयंती पर तुलसी घाट पर चल रहे दो दिवसीय जयंती समारोह के दूसरे दिन गुरुवार को व्यास सम्मेलन का आयोजन हुआ। व्यास सम्मेलन को संबोधित करते हुए मानस मर्मज्ञ दीपक दास जी महाराज ने कहा कि मानस सिर्फ एक ग्रंथ नहीं है बल्कि यह मानव जीवन के  कर्म पथ का  मार्गदर्शक है ।  मानस मर्मज्ञ दीपक दास जी महाराज ने बताया कि मानस को स्वर्ण और मनन करने वाला कभी गलत मार्ग पर जा ही नहीं सकता है। उन्होंने कहा कि समाज को अगर बदलना है तो सबसे आगे उसे मानस के पास जाना होगा। व्यास सम्मेलन को संबोधित करते हुए पंडित श्रीकांत पाठक ने कहा कि श्रीरामचरितमानस आज भी उतना ही प्रासंगिक है जितना वह  पहले था मानस में गोस्वामी जी ने समाज परिवार और व्यक्ति कैसे चलना चाहिए इसका पूरा वर्णन किया है। आज भी अगर रामराज लाना है तो हमें मानस के बताए हुए रास्तों पर चलना होगा व्यास सम्मेलन को पंडित ऋतुराज कात्यायन,  रामचीज़ उपाध्याय,पारसनाथ उपाध्याय आदि ने संबोधित किया ।  कार्यक्रम का संचालन पंडित कृष्णनंद उपाध्याय किशन जी ने किया। इसके पूर्व दूसरे दिन के जयंती समारोह का शुभारंभ महंत प्रोफ़ेसर विशंभर नाथ मिश्र ने गोस्वामी जी के चित्र पर माल्यार्पण एवं आरती करके किया । इस अवसर पर  गोपाल पांडे बाबूराम दीक्षित स्वर्ण प्रताप चतुर्वेदी अशोक पांडे विश्वनाथ यादव छेदी आदि उपस्थित थे । 

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।