बस्ती में भाजपा नेता की हत्या को लेकर डीएम व एसपी पर गिरी गाज हुआ तबादला - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Saturday, 12 October 2019

बस्ती में भाजपा नेता की हत्या को लेकर डीएम व एसपी पर गिरी गाज हुआ तबादला



प्रदेश सरकार ने आधी रात बाद 13 आईएएस, तीन आईपीएस व चार वरिष्ठ पीसीएस अफसरों के तबादले कर दिए। इनमें पांच जिलों के डीएम व दो जिलों के एसपी बदले गए हैं। बस्ती में भाजपा नेता की हत्या के बाद वहां की डीएम माला श्रीवास्तव व एसपी पंकज कुमार को हटा दिया गया है।

बस्ती में भाजपा नेता आदित्य नारायण उर्फ कबीर तिवारी की हत्या के बाद हुए बवाल को सरकार ने गंभीरता से लिया। कबीर छात्रनेता भी थे। घटना के बाद से ही डीएम व एसपी को हटाए जाने की अटकलें शुरू हो गई थीं। जिले के भाजपा नेता दोनों अफसरों की भूमिका पर लगातार उंगली उठा रहे थे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हरियाणा के चुनाव प्रचार से लौटने के बाद तबादलों को मंजूरी दे दी। पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम के प्रबंध निदेशक आशुतोष निरंजन को बस्ती का नया डीएम व हमीरपुर के एसपी हेमराज मीणा को बस्ती का नया पुलिस अधीक्षक बनाया गया है।

पंकज कुमार को डीजीपी मुख्यालय से संबद्ध कर दिया गया है। बस्ती की डीएम रहीं माला श्रीवास्तव को विशेष सचिव आईटी एवं इलेक्ट्रानिक्स के पद पर भेजा गया है। गाजियाबाद के एसपी सिटी श्लोक कुमार को हमीरपुर का नया एसपी बनाया गया है।

सरकार ने चार अन्य जिलों के डीएम भी बदल दिए हैं। इनमें जौनपुर, बदायूं, गाजीपुर, श्रावस्ती जिले शामिल हैं। हालांकि बदायूं के डीएम दिनेश कुमार सिंह को जौनपुर व श्रावस्ती के डीएम ओम प्रकाश आर्या को गाजीपुर का डीएम बना दिया गया है। यशु रुस्तगी को श्रावस्ती, कुमार प्रशांत को बदायूं का डीएम बनाया गया है।

कपिल राज्य पोषण मिशन के नए निदेशक

वरिष्ठ पीसीएस अधिकारियों में कपिल सिंह को राज्य पोषण मिशन का नया निदेशक बनाया गया है। नागेंद्र शर्मा को मैनपुरी का मुख्य विकास अधिकारी, राम अछयबर को एडीएम वित्त एवं राजस्व झांसी तथा रत्न प्रिया को फर्रुखाबाद का सिटी मजिस्ट्रेट बनाया गया है।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।