ओमप्रकाश राजभर ने टि्वटर हैंडल से पूछे सवाल ,सत्ताधारी के 200 से ज्यादा MLA धरने पर बैठने को मजबूर क्यों ? - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Tuesday, 17 December 2019

ओमप्रकाश राजभर ने टि्वटर हैंडल से पूछे सवाल ,सत्ताधारी के 200 से ज्यादा MLA धरने पर बैठने को मजबूर क्यों ?




सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने उठाया सवाल
अपनी टि्वटर हैंडल से पूछे सवाल


सत्ताधारी @BJP4UP के 200 से ज्यादा MLA धरने पर बैठने को मजबूर क्यों

पूर्व Cabine ओमप्रकाश राजभर ने  कहा की इस बात को मैं सत्ता में था तो बार बार कहता था की किसी भी विधायक सांसद की बात अधिकारी कर्मचारी नही सुन रहे है तब लोगो को समझ मे नही आता था आज जब विधायक अपनी पीड़ा स्वत् सामने रख रहे तो लोगो को समझ मे आ रहा है।


क्या  था  मामला

अपनी ही सरकार पर उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए धरने पर बैठे भाजपा विधायक, विपक्ष भी समर्थन में
  
सदन में धरने पर बैठे सत्ता पक्ष व विपक्ष के विधायक।

यूपी विधानसभा में अपनी ही सरकार पर उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए बड़ी संख्या में भाजपा विधायक धरने पर बैठ गए। विपक्ष भी उनके समर्थन में आ गया है। यह पहला मौका है जब सत्ता पक्ष की वजह से सदन की कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी। मामले में भाजपा की किरकिरी हो गई है।

बता दें कि भाजपा विधायक नंद किशोर गुर्जर ने सरकार पर उत्पीड़न करने का आरोप लगाया। जिस पर बड़ी संख्या में भाजपा विधायक भी उनके समर्थन में आ गए।

भाजपा विधायक गुर्जर को सदन में बोलने का मौका नहीं दिए जाने पर कई अन्य सदस्य भी उनके समर्थन में खड़े हो गए। इस पर विधानसभा अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही को पहले आधा घंटा फिर 15 मिनट और बाद में कल 11:00 बजे तक के लिए स्थगित कर दी। गुर्जर के समर्थन में सत्ता पक्ष और विपक्ष के विधायक लामबंद हो गए।

विधायक को बोलने का मौका नहीं दिए जाने पर सपा-बसपा व कांग्रेस के सदस्यों ने बहिर्गमन किया। जबकि भाजपा विधायक सदन की कार्यवाही स्थगित हो जाने के बाद भी धरने पर बैठे हुए हैं।

सदन में मामला न उठा पाने पर भाजपा विधायकों ने जमकर हंगामा किया।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।