उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा पिछड़े वर्ग के छात्र-छात्राओं के साथ भेदभाव कर रही है-ओमप्रकाश राजभर - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Tuesday, 28 January 2020

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा पिछड़े वर्ग के छात्र-छात्राओं के साथ भेदभाव कर रही है-ओमप्रकाश राजभर




उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा पिछड़े वर्ग के छात्र-छात्राओं के साथ भेदभाव कर रही है।
उत्तर प्रदेष सरकार द्वारा अनूसुचित जाति/जनजाति सामान्य वर्ग/पिछड़ा वर्ग के छात्र-छात्राओं को छात्रबृत्ति हेतु बजट आवंटित किया गया जिसमें समान्य वर्ग छात्र-छात्रओं की संख्या पूरे उत्तर प्रदेष में 7 लाख है।
सामान्य वर्ग के लिए बजट 690 करोड़ रूपया की व्यवस्था सरकार द्वारा कराई गई वही पर पिछड़े वर्ग के छात्र-छात्राओं की संख्या पूरे उत्तर प्रदेष में 21 लाख है। 

पिछड़े वर्ग के लिए सरकार द्वारा बजट मात्र 600 करोड़ धनराषि की व्यस्था की गई है। जबकी पिछले वर्श 2018-19 में छात्र-छात्राओं की सख्या 18.5 लाख थी 2019-20 में पिछड़े वर्ग के छात्र-छात्राओं की संख्या बढ़कर 21 लाख हो गई है। सरकार की नीति है प्रति वर्श 10 प्रतिषत से 15 प्रतिषत बजट बढ़ानें का प्रावधान है लेकिन बजट आवंटित  2019-20 में छात्र-छात्राओं की संख्या 21 लाख हो गई।

और सरकार द्वारा पिछड़े वर्ग का बजट बढ़ाने के बजाय 278 करोड़ रूपया कम कर दिया। जिसके वजह से 20 प्रतिषत ही पिछड़े वर्ग के छात्र-छात्राओं को षुल्क प्रतिपूर्ति सरकार दे रही है। वही पर सामान्य वर्ग के छात्र-छात्राओं को 85 प्रतिषत षुल्क प्रतिपूर्ति सरकार दे रही है।
अनूसुचित जाति/जनजाति के छात्र-छात्राओं का वार्शिक आय

 2.50 लाख रूपया है वही पर सामान्य वर्ग एवं पिछड़ा वर्ग का 2 लाख है। सरकार दलितों के साथ भेदभाव क्यो कर रही है।

उत्तर प्रदेष सरकार द्वारा सामान्य वर्ग के वर्श 2019-20 मंे 7 लाख छात्र-छात्राओं को 609 करोड़ का बजट दिया है। उस हिसाब से पिछड़ा वर्ग के वर्श 2019-20 में 21 लाख छात्र-छात्राओं को 600 करोड़ वजट दिया है। जबकी छात्र-छात्राओं की संख्या के हिसाब से पिछड़ा वर्ग का बजट 2070 करोड़ रूपया होना चाहिए ।
पिछड़े वर्ग के छात्र-छात्राओं को आई.टी.आई.में 20 हजार, बी.काम मे 10 हजार रूपया बी.एड में 30 हजार. बी.टेक, एम टेक में 50 हजार रूपया भाजपा सरकार दे रही है। वही पर समान्य वर्ग को सभी पाठयक्रमों में 50 हजार रूपया प्रति छात्र-छात्राओं को दे रही है।

पिछड़े वर्ग छात्रों करो विचार-पिछड़ी जाति के नेता है लाचार
सरकार व विपक्ष के किसी वर्ग के नेताओं का ध्यान आपकी तरफ नहीं है।

उत्तर प्रदेष (भाजपा) सरकार द्वारा सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी मांग करती है कि पिछड़े वर्ग के छात्र-छात्राओं की संख्या के हिसाब से 2070 करोड़ रूपया तत्काल बजट जारी करे नही तो पार्टी प्रदेष व्यापी आन्दोलन करेगी

सरकार पिछड़ों का ध्यान सी.एए.एनआरसी.पर कराकर षिक्षा,स्वास्थ्य,बेरोजगारी,महं
गाई से ध्यान भटकानें में लगी है सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी इसको कभी बर्दास्त नहीं करेगी।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।