सपा मुख्यालय पर मनाया गया समाज सुधारक संत गाडगे बाबा की 144वीं जयंती - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

Tahkikat News App

आज की बड़ी ख़बर

Sunday, 23 February 2020

सपा मुख्यालय पर मनाया गया समाज सुधारक संत गाडगे बाबा की 144वीं जयंती

  ब्यूरो लखनऊ

 महान समाज सुधारक संत गाडगे बाबा की 144वीं जयंती पर आज समाजवादी पार्टी मुख्यालय, लखनऊ में उनको भावपूर्ण पुष्पांजलि अर्पित की गई। संत गाडगे के चित्र पर नेता प्रतिपक्ष विधान परिषद श्री अहमद हसन, पूर्व कैबिनेटमंत्री श्री राजेन्द्र चौधरी एवं विधायकगण सर्वश्री एसआरएस यादव, उदयवीर सिंह, राजेश यादव सहित समाजवादी अनुसूचितजाति/जनजाति प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव डाॅ0 भूपेन्द्र सिंह दिवाकर, कमलेश दिवाकर पूर्व विधायक, हेमंत कुमार सिंह टुन्नू पूर्व अध्यक्ष इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्रसंघ, डाॅ0 राजवर्धन जाटव, पासी जयवीर सिंह, श्रीमती शालिनी यादव ने माल्यार्पण किया।
   समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव का मानना है कि संत गाडगे आजीवन सामाजिक अन्याय और विषमता के खिलाफ संघर्षरत रहे तथा अपने समाज को जागरूक करते रहे। बाबा गाडगे व्यर्थ के कर्मकाण्डी एवं खोखली परम्पराओं से दूर रहे। जाति प्रथा और अस्पृश्यता के वे विरोधी थे।
   श्री यादव का कहना है कि संत गाडगे ने अपने समाज में शिक्षा का प्रकाश फैलाने के लिए 31 शिक्षण संस्थाओं तथा एक सौ से अधिक अन्य संस्थाओं की स्थापना की। बाबा गाडगे के बाबा साहेब डाॅ0 भीमराव अम्बेडकर से भी निकट सम्बंध थे। संत गाडगे का जीवन और कार्य पूरे भारत के लिए प्रेरणा का स्रोत है।
   इस अवसर पर सर्वश्री सुनील दिवाकर, विपिन मनोठिया, दिग्विजय सिंह देव, डीएम खोटे, आरपी श्रीवास, राजन कनौजिया, जयराम कनौजिया, धर्मेन्द्र दिवाकर, कौशल दिवाकर, महेश कनौजिया, आशीष यादव, अनीता दिवाकर, माता प्रसाद सलोनिया, दीपक खोटे, सूरज कुमार, पप्पू दिवाकर आदि की उपस्थिति उल्लेखनीय रही।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।