गोण्डा : ट्रकों में बैठकर दूर शहरों से अपने घर को लौट रहे प्रवासी - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Friday, 15 May 2020

गोण्डा : ट्रकों में बैठकर दूर शहरों से अपने घर को लौट रहे प्रवासी

राकेश सिंह ,गोंडा

ट्रकों में बैठकर दूर शहरों से अपने घर को लौट रहे प्रवासी

अब इसे लोगों की मजबूरी कहें या फिर इस मजबूरी में भी लोगों के लिए कमाई का अवसर कहें। ट्रक, पिकअप और मिनी ट्रक आदि से बड़ी संख्या में रोजाना लोग जिले में पहुंच रहे हैं। इन मालवाहनों से सवारियों को ढोने की परमीशन किसने दी ये भी कोई बताने को तैयार नहीं है। हाल ये है कि लोगों की ओर प्रशासन को जानकारी दी जा रही है लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। नियमों के मुताबिक मालवाहनों में सवारियों को ढोना कानूनन अपराध की श्रेणी में आता है, लेकिन यहां न तो कोई रोकने वाला और न कोई टोकने वाला ही है। प्रतिदिन सैकड़ों की संख्या में ट्रक और पिकअप से लोग गांवों में पहुंच रहे हैं। यह न केवल नियम विरुद्ध है बल्कि गांवों में भी सामुदायिक स्तर पर कोरोना के फैलने का खतरा है।

पहुंच रहे लोगों के लिए कोई व्यवस्था नहीं

प्रशासन की ओर से सभी गांवों में चुपके से या अनाधिकृत रूप से जो लोग पहुंच रहे हैं, उनके लिए कोई व्यवस्था नहीं की गई है। लोगों की ओर कंट्रोल रूम और पुलिस के पास फोन किया जाता है तो कोई कार्रवाई नहीं होती है। इसका सबसे बड़ा कारण है कि इस मामले पर प्रशासन का ध्यान न देना। जो लोग खुद जिम्मेदारी समझ रहे हैं और होम क्वारंटीन हो रहे हैं वो तो ठीक है लेकिन जो खुलेआम घूम रहे हैं, वो खतरा बढ़ा रहे हैं। अधिकांश गांवों में कोई भी क्वारंटीन सेंटर नहीं है और ग्राम प्रधानों की ओर से कोई रुचि नहीं ली जा रही है।
मालवाहनों का अनाधिकृत प्रयोग गलत है 
एआरटीओ प्रवर्तन सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी प्रवर्तन राजेश कुमार मौर्य ने कहा कि मालवाहनों से सवारियों का ढोना अपराध की श्रेणी में आता है। मौजूदा समय में प्रवर्तन कार्य पूरी तरह से ठप है। लेकिन यदि कोई भी ऐसा कर रहा है तो कार्रवाई होनी चाहिए।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।