ओमप्रकाश राजभर के पत्र के बाद सरकार बैकफुट पर - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Tuesday, 5 May 2020

ओमप्रकाश राजभर के पत्र के बाद सरकार बैकफुट पर

लखनऊ ब्यूरो

ओमप्रकाश राजभर के पत्र के बाद सरकार बैकफुट पर

आइ.ए.एस और पी.सी एस.मुख्य परीक्षा मे परीक्षा पूर्व प्रशिक्षण योजना मे पिछडे वर्ग को किया गया शामिल

लखनऊ । समाज कल्याण विभाग द्वारा दिल्ली स्थित उत्कृष्ट कोटि के कोचिंग केन्द्रों के माध्यम से आइ.ए.एस और पी.सी एस.मुख्य परीक्षा मे परीक्षा पूर्व प्रशिक्षण योजना के लाभ शासनादेश मे परिवर्तन करते हुए पिछड़े वर्ग को  इस लाभ से बंचित किए जाने पर सर्व समाज के लिए हमेशा संघर्ष करने वाले  पूर्व मंत्री ओमप्रकाश राजभर का एक पत्र योगी सरकार को आइना दिखाया और तत्काल आइ.ए.एस और पी.सी एस मे पिछड़ी जाति को भी अनुसूचित और सामान्य के साथ निःशुल्क कोचिंग की व्यवस्था लागू कर दी गई।
दरअसल वर्तमान सरकार द्वारा एक अप्रासंगिक कदम उठाया गया जिसके अंतर्गत दिल्ली और प्रयागराज स्थित उतकृष्ट कोटि के कोचिंग केन्द्रों के माध्यम से आइ.ए.एस और पी.सी एस.मुख्य परीक्षा मे परीक्षा पूर्व प्रशिक्षण योजना के लाभ शासनादेश मे परिवर्तन करते हुए पिछड़े वर्ग को इस से बंचित किए जाने का कार्य किया गया। इस संबंध में पिछड़ी जाति के हितैषी माने जाने वाले ओम प्रकाश राजभर को जानकारी होने पर एक सार्थक कदम उठाया गया। राजभर ने पत्र के माध्यम से राज्यपाल को अवगत कराया और उन्हें बताया कि सरकार के इस कदम से एक विशेष वर्ग के मेघावी छात्रों के साथ अन्याय हो रहा है। आखिरकार सरकार द्वारा इसमे बदलाव करते हुए पिछड़़ी जाती को भी लाभ देने की प्रेस रीलिज जारी की गई।
समाज कल्याण विभाग द्वारा जारी प्रेस रीलिज मे बताया गया कि राज्य सरकार द्वारा सम्यक विचारोपरांत इस योजना का विस्तार किया गया है।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।