बस्ती जिले में भी सामने आया फर्जी शिक्षकों का कारनामा पुलिस अधीक्षक का आदेश ठेंगे पर - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Thursday, 9 July 2020

बस्ती जिले में भी सामने आया फर्जी शिक्षकों का कारनामा पुलिस अधीक्षक का आदेश ठेंगे पर

आलोक कुमार

बस्ती जिले में भी सामने आया फर्जी शिक्षकों का कारनामा पुलिस अधीक्षक का आदेश ठेंगे पर

जहां एक तरफ योगी सरकार फर्जीवाड़े को लेकर अत्यंत गंभीर है। अपराधियों को लेकर शिकंजे कसे जा रहे हैं शिक्षा विभाग फर्जीवाड़े को लेकर एसटीएफ जांच कर रही है तमाम शिक्षकों के कुंडली भी खंगाले जा रहे हैं तथा सेवा भी समाप्त की गई है  बस्ती जिले में माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन आयोग में  कूट रचित दस्तावेजों के आधार पर एक प्रधानाचार्य अपनी नियुक्ति हासिल कर लिया और 12 वर्षों से अपनी ऊंची पहुंच के कारण पद पर बना हुआ है जो सरकार के नीति पर पानी फेर रहा है मामला बस्ती जिले के वाल्टरगंज थाना क्षेत्र के देश राज नारंग इंटर कॉलेज का है जहां प्राथमिक शिक्षक कूट रचना के आधार पर प्रधानाचार्य के पद पर कार्यरत है प्रबंध संचालक सत्येंद्र नाथ पांडेय द्वारा प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए पुलिस अधीक्षक को तहरीर दिया गया पुलिस अधीक्षक ने इस मामले को संज्ञान में लेते हुए थाना वाल्टरगंज को निर्देशित किया लेकिन वाल्टरगंज पुलिस ने पुलिस अधीक्षक के निर्देश को ठेंगा दिखाते हुए मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया है
 जानकारी के अनुसार श्री देशराज नारंग इंटर कॉलेज वाल्टरगंज बस्ती गोविंद नगर शुगर मिल द्वारा संचालित है शुगर मिल का प्रबंधक भी विद्यालय का प्रबंधक होता है  शुगर मिल  बरसों से बंद है जिसके कारण प्रबंधक व प्रधानाचार्य दोनों के कार्य प्रधानाचार्य ही करते हैं
प्रधानाचार्य रमेश चंद्र सिंह ही करते हैं इनके इस कृत्य से छुब्ध होकर विद्यालय के अनेकों शिक्षकों ने जिला विद्यालय निरीक्षक वा संयुक्त शिक्षा निदेशक बस्ती को ज्ञापन देकर कार्रवाई की मांग  महीनों पूर्व की थी। 
विभाग को मिल रही शिकायतों को नजर रखते हुए उच्चाधिकारियों के निर्देश पर संयुक्त शिक्षा निदेशक बस्ती मंडल बस्ती ने श्री सिंह के अभिलेखों के जांच कराए
 जिसमें यह पाया गया कि श्री सिंह ने अपने जांच को प्रभावित करने के लिए तत्कालीन शिक्षा निदेशक बस्ती मंडल बस्ती का कूट रचित पत्र तैयार कर शिक्षा निदेशक माध्यमिक उत्तर प्रदेश वा शिक्षा मंत्री को पत्र भेजकर फर्जी हस्ताक्षर से मामले का निस्तारण कर दिया जांच में पता चला कि श्री सिंह द्वारा भेजे गए पत्र का पत्रांक गलत है यही नहीं श्री सिंह केंद्रीय विद्यालय गोण्डा में प्राथमिक शिक्षक के रूप में अनिवार्य सेवानिवृत्ति ले लिए जिसका  पेंशन भी प्राप्त कर रहे हैं और 2008 में आयोग के माध्यम से प्रधानाचार्य बनकर बस्ती जनपद में राष्ट्रीय कृषक इंटर कॉलेज रघुराजनगर सुदी पुर में कार्यभार ग्रहण किया इसी कृति को लेकर प्रबंध संचालक सत्येंद्र नाथ पांडे ने रमेश चंद्र सिंह के ऊपर प्राथमिकी दर्ज कराने हेतु पुलिस अधीक्षक को तारीफ देकर कार्रवाई की मांग की है लेकिन 3 जुलाई के प्रार्थना पत्र वा पुलिस अधीक्षक के निर्देशों के बावजूद वाल्टरगंज पुलिस ने फर्जी तरीके से पद हासिल किए प्रधानाचार्य के विरुद्ध खबर लिखे जाने तक कोई कार्यवाही नहीं की है इस संबंध में प्रभारी थाना अध्यक्ष ऋषि देव प्रसाद ने बताया आर के आधार पर मुकदमा पंजीकृत अभी नहीं किया गया है

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।