राम मंदिर के भूमि पूजन में आमंत्रण नहीं मिला तो सरयू में लेंगे जलसमाधि - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

Tahkikat News App

आज की बड़ी ख़बर

Saturday, 25 July 2020

राम मंदिर के भूमि पूजन में आमंत्रण नहीं मिला तो सरयू में लेंगे जलसमाधि

लखनऊ ब्यूरो

 राष्ट्रवादी कुंवर आजम खान का ऐलान, राम मंदिर के भूमि पूजन में आमंत्रण नहीं मिला तो सरयू में लेंगे जलसमाधि

  अयोध्या। मुस्लिम कार्यसेवक मंच के अध्यक्ष व श्रीराम भक्त राष्ट्रवादी कुंवर मो. आजम खान ने राम मंदिर आंदोलन के पुरोधा रहे स्वर्गीय महंत रामचंद्र दास परमहंस की समाधि पर श्रद्धांजलि दी। तदुपरांत मीडिया से मुखातिब होकर कहा कि राम मंदिर के भूमि पूजन में आमंत्रण नहीं मिला तो हम सरयू नदी में जल समाधि ले लेंगे। यहां अयोध्या में 5 अगस्त को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भव्य राम मंदिर की आधारशिला रखेंगे। इसी कड़ी में शनिवार को मुस्लिम कारसेवक मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष आजम खान ने अयोध्या पहुंचकर एक प्रतिज्ञा ली है। उनका कहना है कि अगर 5 अगस्त को प्रधानमंत्री के भूमि पूजन कार्यक्रम में उनको नहीं आमंत्रित किया गया तो वे उसी दिन सरयू में जल समाधि ले लेंगे। उनका मानना है कि उन्होंने राम मंदिर निर्माण के लिए आंदोलन किया है वह भगवान राम को मानने वाले हैं। वे भी भगवान राम के भक्त हैं। भगवान राम को किसी धर्म या जाति में नहीं बांधा जा सकता। इसलिए इस पुण्य काम में वह भी शामिल होकर राम मंदिर भूमि पूजन का साक्षी बनना चाहते हैं। आज दोपहर अयोध्या पहुंचे राष्ट्रवादी आजम खान ने कहा कि भगवान राम को ही अपना आराध्य मानते हैं। जिस तरह से भगवान राम व लक्ष्मण इसी सरयू में जल समाधि ली थी। उसी तरह से वह भी जल समाधि ले लेंगे। भूमि पूजन के कार्यक्रम में राम मंदिर आंदोलन से जुड़े सभी लोग इस पुण्य मौके पर शामिल होना चाहते हैं, लेकिन कोरोना काल को देखते हुए ट्रस्ट बहुत कम ही लोगों को आमंत्रित कर रहा है। अयोध्या के साधु-संतों को काफी वर्षों से राम मंदिर निर्माण का इंतजार था जो अब 5 अगस्त को पूरा होने जा रहा है। कोरोना काल को देखते हुए बताया जा रहा है कि केवल 200 अतिथियों को ही भूमि पूजन कार्यक्रम में आमंत्रित किया जा रहा है। अभी तक आजम खां को निमंत्रण पत्र नही मिल सका है। अतः ये काफी आहत है।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।