कानपुर:डीएम ने पशुओं को कृत्रिम गर्भाधान हेतु बहुउद्देशीय वाहनों को हरी झण्डी दिखा किया रवाना - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Wednesday, 5 August 2020

कानपुर:डीएम ने पशुओं को कृत्रिम गर्भाधान हेतु बहुउद्देशीय वाहनों को हरी झण्डी दिखा किया रवाना

ब्यूरो कानपुर देहात:अरविन्द शर्मा

डीएम ने पशुओं को कृत्रिम गर्भाधान हेतु बहुउद्देशीय वाहनों को हरी झण्डी दिखा किया रवाना


कानपुर देहात।राष्ट्रीय गोकुल मिशन योजना द्वितीय चरण का जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह ने कलेेक्ट्रेट प्रागढ़ से 10 विकास खण्ड हेतु बहुउद्देशीय वाहनों को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। 
जिलाधिकारी ने बताया कि यह योजना मा0 प्रधानमंत्री भारत सरकार के द्वारा शुभारंभ की गयी प्राथमिकता की योजना है। जिसमें जनपद के 10 विकास खण्डों में 500 राजस्व ग्रामों का चयन किया गया है। योजनान्तर्गत प्रत्येक विकास खण्ड में 5000 तथा जनपद में कुल 50000 पशुओं को निःशुल्क कृत्रिम गर्भाधान से अच्छादित किया जाना प्रस्तावित है। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा0 डीएन लवानियाॅ ने बताया कि विभागीय कृत्रिम गर्भाधान योजना अन्तर्गत निर्धारित विभागीय शुल्क प्रति पशु रू0 30/-केन्द्र पर तथा रू0 40/-द्वार पर प्राप्त कर अवशेष ग्रामों में पशुपालकों के दुधारू पशुओं का कृत्रिम गर्भाधान किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि वर्गीकृत सीमन योजना के तहत गौवंशीय प्रजाति के मादा पशुओं को निर्धारित शुल्क प्रति पशु रू0 300/- प्राप्त कर कृत्रिम गर्भाधान की सुविधा प्रदान की जाती है इस योजना में 90 प्रतिशत गायों में स्वदेशी नस्ल के साहीवाल व थारपारकर मादा संतति जनम लेती है। जिससे अनुपयोगी नर साड़ो की संख्या कम करने के अभियान को बल मिलता है। यह योजना मा0 मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश शासन की प्राथमिकता में है। उन्होंने बताया कि इस योजना में आवंटित लक्ष्य प्राप्त करने में बहुउद्देशीय सचल चिकित्सा वाहन की महती भूमिका है। एक विकास खण्ड को छोडकर 9 विकास खण्ड में बहुउद्देशीय सचल चिकित्सा वाहन कार्य कर रहे है 10 विकास खण्ड के 50000 कृत्रिम गर्भाधान के लक्ष्यों को निर्धारित समय में प्राप्त करने हेतु 10 बहुउद्देशीय सचल पशु चिकित्सा वाहन को कार्य सुनिश्चित करना होगा यह योजना 1 अगस्त 2020 से 31 मई 2021 तक किया जाना है। इसके साथ समस्त उप मुख्य पशु चिकित्साधिकारी, पशु चिकित्साधिकारी, पशुधन प्रसार अधिकारी एवं वेटनरी फार्मासिस्ट को अतिरिक्त कार्य आवंटन से विरत रखे जाने की आवश्यकता महसूस होगी जिससे ससमय लक्ष्यों को प्राप्त करना सुनिश्चित किया जा सके। इस अवसर पर नोडल अधिकारी डा0 एसवी सिंह, डा0 भगवान सिंह, डा0 वीकेवर्मा, डा0 हृदेश, डा0 वृन्दावन, डा0 देवेन्द्र सिंह, डा0 गौतम सिंह, डा0 गौरव सक्सेना, पशु प्रसार अधिकारी हर्ष गौतम आदि अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।
--------------------------

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।