गरीबों के हक पर डाका डाल रहा कोटेदार,अधिकारी मौन - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Saturday, 1 August 2020

गरीबों के हक पर डाका डाल रहा कोटेदार,अधिकारी मौन

राकेश सिंह गोण्डा 

गरीबों के हक पर डाका डाल रहा कोटेदार,अधिकारी मौन

गोण्डा- जनपद में जहां एक तरफ खाद्यान्न के लिए हाहाकार मचा हुआ है वहीं दूसरी तरफ दबंग कोटेदार गरीबो के हिस्से का अनाज बेंचकर माला माल हो रहे है। और जिम्मेदार आँख मूँदकर बैठे है। सरकार भले ही हर गरीब को सुविधाएं-संसाधन मुहैया कराने की योजनाएं बनाती रहे सरकार गरीबों के लिए कितना भी मुफ्त राशन मुहैया करा दे लेकिन जब कोटेदार का पेट भरेगा तब तो आगे जनता तक पहुंचेगा इस तंत्र के मकड़जाल में उलझकर लक्ष्य से भटक जाना तमाम योजनाओं की नियति बन गई है। हर गरीब तक अनाज पहुंचाने के लिए सरकार ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना तैयार की है। कोविड-19 की वजह से सरकार काफी परेशान है,लेकिन कोटेदार मस्त हैं हालात यह है कि जिले के कोटेदार हर महीने गरीबों के नाम पर करोड़ों रुपये का अनाज डकार जा रहे हैं। इसे प्रशासन की मिलीभगत कहे या रहमदिली   बताते चलें कि जिले के  कर्नलगंज तहसील क्षेत्र अंतर्गत  विकासखंड करनैलगंज के रेक्सड़िया गांव की कोटेदार माला देवी के दबंग पति अमिरका यादव गरीबों के अनाज को हड़प रहा है कार्ड धारक हर महीने राशन लेने के लिये कोटे की दुकान पर पहुंचते है, लेकिन उन्हें प्रति यूनिट चार किलो राशन ही दिया जा रहा है। और उसमें भी घटतौली की जाती है। तथा केरोसिन का वितरण ही नहीं किया जा रहा है।   उक्त आपबीती ग्रामीणों ने खाद्यान्न वितरण की सच्चाई  जानने पहुंची पत्रकारों की टीम को कार्ड धारक श्रीमती रघुवरा ,शान्ती, मालती, समेत करीब एक दर्जन से अधिक पीड़ितों ने बताया कि पात्र गृहस्थी के तहत उनके खाद्य सुरक्षा गारंटी योजना में कार्ड बने थे उसके बाद उन्होंने अपने अपने कार्डो से आधार भी लिंक करा लिया है उसके बावजूद दबंग कोटेदार उनकी यूनिट कटने की बात कह कर कार्ड धारकों का यूनिट काट लेते है और उसके उपरांत प्रति यूनिट चार किलो राशन देते है। जिस पर ग्रामीणों का कहना है कि शिकायतों के बाद भी गांव के कोटेदार के विरुद्ध कोई कार्यवाही नहीं किये जाने से उसके हौंसलें बुलंद है । जिस कारण दबंग कोटेदार गरीबों केे हक पर डाका डाल रहा है जिसमें सच्चाई नजर  तब आती है जब ग्रामीण पत्रकार को अपनी समस्याएं बता रहे थे इसी बीच दबंग कोटेदार वहां पहुंच कर हंगामा करने लगा तथा ग्रामीणों से मारपीट पर आमादा हो गया । जिस पर कार्ड धारकों ने प्रशासन से कोटेदार की शिकायत करते हुए उसके खिलाफ कड़ी कार्यवाही किये जाने की मांग की है। अब सोचने वाली बात यह है कि सरकार तथा प्रशासन इस प्रकार की गुंडई करने वाले कोटेदारों के खिलाफ कार्रवाही क्यों नहीं करता है अब देखना यह है कि दबंग कोटेदार के खिलाफ प्रशासन कार्यवाही करता है या मामले को यूं ही किंतु परंतु में निपटा देता है।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।