गोण्डा । भिखारीपुर-सकरौर तटबंध कटने से बचा, देर रात तक डटे रहे डीएम, संभाली कमान - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 3 August 2020

गोण्डा । भिखारीपुर-सकरौर तटबंध कटने से बचा, देर रात तक डटे रहे डीएम, संभाली कमान

राकेश सिंह गोण्डा 

भिखारीपुर-सकरौर तटबंध कटने से बचा, देर रात तक डटे रहे डीएम, संभाली कमान

गोण्डा । घाघरा नदी का जलस्तर घटना शुरू होते ही नदी की कटान तेज हो गई है. रविवार को तहसील तरबगंज अंतर्गत भिखारीपुर-सकरौर तटबंध पर कटान शुरू हो गई। तटबंध को कटने से बचाने के लिए बाढ़ खंड के इंजीनियर्स को युद्ध स्तर पर बचाव कार्य के निर्देश दिए गए। जिलाधिकारी डॉ नितिन बंसल स्वयं पूरी रात अधिकारियों के साथ तटबंध पर डटे रहे तथा तटबंध मरम्मत का कार्य कराया जिससे तटबंध टूटने से बचा लिया गया। 

   जिलाधिकारी ने बताया कि नेपाल से 4 लाख 12हजार क्यूसेक से अधिक पानी छोड़ा गया था जिससे घाघरा का जलस्तर खतरे के निशान से 108 सेंटीमीटर ऊपर पहुंच गया था। रविवार से नदी का जलस्तर घटना शुरू हुआ तो कटान तेज हो गई है। कटान तेज होते ही भिखारीपुर-सकरौर  के किलोमीटर 17-18 के बीच कटान चालू हो गई। कटान शुरू होने की सूचना पर जिलाधिकारी ने तत्काल तटबंध बचाव कार्य के निर्देश दिए। स्वयं जिलाधिकारी पूरी रात मौके पर मौजूद रहे तथा लगातार 6 घंटे तक  बोल्डर, झांवा, नायलॉन क्रेट तथा ट्री स्पर से बचाव/ मरम्मत कार्य किया गया। जिससे तटबंध को कटने से बचा लिया गया तथा वर्तमान में तटबंध सुरक्षित है। उन्होंने बाढ़ खंड के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि जहां कहीं भी कटान का खतरा हो, ऐसे सभी जगहों पर मरम्मत कार्य चालू रखा जाए।
 इस दौरान जिलाधिकारी के साथ अपर जिलाधिकारी राकेश सिंह, अधीक्षण अभियंता बाढ़ खंड, एक्सईएन बाढ़ खंड बीएन शुक्ला, एसडीएम तरबगंज, जिला आपदा विशेषज्ञ राजेश श्रीवास्तव व अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।