बस्ती: रुधौली पुलिस का शवगृह बना रोडवेज का बस शेल्टर - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Tuesday, 11 August 2020

बस्ती: रुधौली पुलिस का शवगृह बना रोडवेज का बस शेल्टर

राज आर्या बस्ती

रुधौली पुलिस का शवगृह बना रोडवेज का बस शेल्टर

मुख्यमंत्री के उद्घाटन के बाद से नहीं रुकी एक भी बस

 दिखावे का स्टॉप बनकर रह गया बस शेल्टर

बस्ती रुधौली: स्थानीय नगर पंचायत के अंबेडकर नगर वार्ड में नवनिर्मित रोडवेज का बस शेल्टर वर्तमान में रुधौली थाने पर आने वाले शवों को रखने का आश्रय बन चुका है। बात अगर बस शेल्टर की करें तो उद्घाटन कार्यक्रम के बाद से आज तक न तो यहां कोई यात्री बस पकड़ने के लिए रुका और न ही किसी यात्री को रोडवेज बस ने इस स्टॉप पर उतारा है। यानी कि अगर सीधी भाषा में कहे तो उद्घाटन के बाद से यह बस शेल्टर महज दिखावे का बनकर रह गया है।
बताते चलें कि उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की ओर से लगभग 15 लाख रुपए की लागत से रुधौली थाने के सामने यात्री बस शेल्टर का निर्माण कराया गया, जिसका उद्घाटन 16 जुलाई को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया था। उद्घाटन को अभी एक माह भी नहीं बीते हैं कि शेल्टर की अस्त व्यस्त व्यवस्था इसके रखरखाव की और उपयोग की हालात बता रही हैं। उद्घाटन के दौरान जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन, महादेव विधायक रवि सोनकर, रुधौली चेयरमैन धीरसेन निषाद एवं रुधौली विधायक प्रतिनिधियों के द्वारा हरी झंडी दिखाकर रवाना किए गए बसों के अलावा आज तक एक भी बस स्टैंड पर नहीं रुकी। दूसरी ओर स्थानीय पुलिस इस शेल्टर को थाने पर आने वाले विभिन्न शवो के शवगृह के रूप में उपयोग कर रही है। इस संबंध में रोडवेज के ए आर एम आर पी सिंह का कहना है कि बस शेल्टर पर जल्द ही एक कर्मचारी की तैनाती की जाएगी जो वहां की व्यवस्थाओं पर नजर रखेगा तथा यात्रियों को उनकी आवश्यकता अनुसार सुविधा भी उपलब्ध कराएगा। जहां तक बात है पुलिस द्वारा शेल्टर पर शव रखे जाने की तो अगर ऐसा है तो यह सरासर गलत है, पुलिस विभाग को खुद ही सोचना चाहिए कि ऐसा नहीं किया जाना चाहिए। इस संबंध में उच्चाधिकारियों को अवगत कराया जाएगा।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।