अस्पताल के छत से मरीज ने लगाई छलांग, मृत्यु - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 24 August 2020

अस्पताल के छत से मरीज ने लगाई छलांग, मृत्यु

कैलाश सिंह विकास

अस्पताल के छत से मरीज ने लगाई छलांग, मृत्यु

काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के सर सुंदर लाल अस्पताल स्थित सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक के कोविड वार्ड मे भर्ती वाराणसी के फूलपुर निवासी 21 वर्षीय मरीज़ के चौथी मंजिल से कूद कर गिरने से दुखद मृत्यु हो गई। इस मरीज़ को सर्वप्रथम 16 अगस्त को मानसिक अस्वस्थता के कारण आकस्मिक चिकित्सा कक्ष में लाया गया था, जहां संबंधित चिकित्सकों द्वारा उसकी जांच कर उसे चिकित्सा हेतु होल्डिंग एरिया में रखा गया।
 
इलाज के दौरान नियमानुसार मरीज़ का सैंपल 19 अगस्त को कोविड परीक्षण के लिए भेजा गया, जिसकी रिपोर्ट 22 अगस्त को पॉज़िटिव आई और उसी दिन मरीज़ को कोविड वॉर्ड में शिफ़्ट कर दिया गया।
 
भर्ती होने पर मरीज़ को साइकोसिस (मानसिक रोग) से ग्रसित पाया गया और उसका संबंधित चिकित्सकों द्वारा इलाज किया जा रहा था। इस बीच मरीज़ का व्यवहार लगातार बहुत असामान्य था, वह बार बार अपना बेड छोड़कर दूसरे मरीज़ों के पास जाता रहा। इसी दौरान 23.08.2020 को सुबह मरीज़ ने खिड़की से कूदने का प्रयास किया। उस समय मरीज़ को समझा बुझा कर वापस बेड पर लाया गया, उसे दवा दी गई और उसकी काउंसिलिंग की गई, साथ ही साथ संभी संबंधित विशेषज्ञों द्वारा तत्परता से इलाज किया जाता रहा।
 
चूंकि मरीज़ को कोविड का हल्का संक्रमण था, उसके असामान्य व्यवहार को देखते हुए  उसके परिजनों को सुझाव दिया गया कि अस्पताल आकर उसे संयत करें अथवा उसे घर पर ही क्वॉरंटाइन कर दवाएं देकर उसका इलाज करें। मरीज़ के परिवार ने इससे इनकार कर दिया और कहा कि अस्पताल में ही उसका इलाज किया जाए। इस स्थिति में मरीज का इलाज सुचारू रूप से अस्पताल में चलता रहा परंतु दुर्भाग्य से 23.08.2020 को रात्रि लगभग 11 बजे मरीज़ ने अस्पताल की खिड़की से छलांग लगा दी।
 
घटना के उपरांत तुरंत उसे ट्रॉमा सेन्टर ले जाया गया, जहां पंहुचने पर चिकित्सकों ने जांच कर बताया कि पंहुचने से पहले ही मरीज़ की दुखद मृत्यु हो चुकी थी। 


No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।