बस्ती: संस्कार भारती बस्ती इकाई की डॉ.रमा शर्मा पहली प्लाज्मा डोनर बनने को तैयार-डा. कैप्टन पुष्पलता मिश्रा - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Sunday, 23 August 2020

बस्ती: संस्कार भारती बस्ती इकाई की डॉ.रमा शर्मा पहली प्लाज्मा डोनर बनने को तैयार-डा. कैप्टन पुष्पलता मिश्रा

आलोक चौधरी बस्ती

संस्कार भारती बस्ती इकाई की डॉ.रमा शर्मा पहली प्लाज्मा डोनर बनने को तैयार-डा. कैप्टन पुष्पलता मिश्रा

बस्ती । कोविड-19 के महामारी के दौर में प्लाज्मा थेरेपी वरदान साबित हो रहा है,ऐसे में जरूरत है कि कोरोना से ठीक हो चुके लोग आगे आयें, जिससे अन्य मरीजों की जान बचाया जा सके,एक व्यक्ति अपने प्लाज्मा डोनेट द्वारा चार लोगों की जान बचा सकता है,यह विचार संस्कार भारती बस्ती इकाई की नगर अध्यक्ष सत्या मिश्रा और कार्यकारी प्रान्तीय अध्यक्ष गोरख प्रान्त डा. कैप्टन मिश्रा ने व्यक्त किया।
डॉ. रमा शर्मा ने कहा कि ईश्वर न करे किसी को कोरोना हो,लेकिन यदि हो जाय तो ठीक होने के उपरांत कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए सभी को प्लाज्मा डोनेट करते हुए नए मरीजों को बचाने में अपना अमूल्य योगदान देना चाहिए।
उत्तर प्रदेश भारत स्काउट और गाइड बस्ती के जिला प्रशिक्षण आयुक्त स्काउट कुलदीप सिंह के द्वारा सर्व प्रथम प्लाज्मा डोनेट करने के लिये जागरूक करने के लिये आभार प्रकट करती हूँ, समाज सेवा के क्षेत्र में स्काउट गाइड का योगदान सराहना योग्य है।
डॉ. रमा के पहल पर संस्कार भारती बस्ती इकाई के डॉ. कुलदीप सिंह,डॉ.नवीन श्रीवास्तव,डॉ. रंजना अग्रहरि,राजेश कुमार मिश्र,विकास श्रीवास्तव,राहुल श्रीवास्तव,लता सिंह, कमला वर्मा,सरिता शुक्ला, अंकिता श्रीवास्तव,ओम प्रकाश पांडेय,उर्मिला पांडेय, अनुपमा श्रीवास्तव,ई. राजेश श्रीवास्तव, शशिकला पांडेय,सरोज सिंह,ललिता श्रीवास्तव, निर्मला वर्मा,रीता त्रिपाठी, शालिनी मिश्रा,दिब्या त्रिपाठी आदि ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि संस्कार भारती समय समय पर समाज हित में अनेक आयोजन करती रहती है और आगे भी करती रहेगी।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।