तूफ़ान में गिरे पेड़ के हिस्सेदार निकले 41, बंटवारे को लेकर जमकर हुआ बवाल - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

Tahkikat News App

आज की बड़ी ख़बर

Tuesday, 8 September 2020

तूफ़ान में गिरे पेड़ के हिस्सेदार निकले 41, बंटवारे को लेकर जमकर हुआ बवाल

राकेश सिंह गोण्डा 

तूफ़ान में गिरे पेड़ के हिस्सेदार निकले 41, बंटवारे को लेकर जमकर हुआ बवाल

धानेपुर, गोण्डा। एक पेड़ के 41 हिस्सेदार होने की बात सुनकर आश्चर्य जरूर होगा, लेकिन बात सोलह आने सच है। मामला धानेपुर थाना क्षेत्र के ग्राम लेदई पुरवा का है। पिछले दिनों आए आंधी तूफान में यहां एक बाग़ में लगा आम का एक विशाल पेड़ धराशाई हो गया था। उस पेड़ के 41 हिस्सेदार होने की वजह से बंटवारे को लेकर विवाद हो गया।

मामला एसडीएम तक पहुंचा, जिस पर उन्होंने थानाध्यक्ष को निस्तारण कराने का आदेश दिया। इस मामले में पुलिस ने बहुत ही सूझबूझ से काम लेते हुए विवाद का पटाक्षेप करा दिया। दरअसल जिस बाग़ में यह पेड़ था, उसमें क, ख, ग व घ के चार खण्ड के 41 हिस्सेदार हैं। इसकी प्रमाणिकता किसी के पास नहीं थी, लेकिन लालच वश हर हिस्सेदार अपने ही खण्ड में पेड़ स्थित होने की बात पर अड़ा हुआ था।

किसी प्रकार समझौता न होने की स्थिति में एक पक्ष के शिव शंकर पुत्र भवानी प्रसाद द्वारा संयुक्त रूप से उप जिलाधिकारी को लिखित पत्र देकर विवाद का निस्तारण कराने की मांग की गयी, जिस पर एसडीएम द्वारा थानाध्यक्ष धानेपुर व राजस्व निरीक्षक को आदेशित किया गया कि दोनों पक्षों को बुलाकर प्रकरण का निस्तारण कराते हुए शान्ति व्यवस्था बनाये रखें।

इस पर तत्काल कार्रवाई करते हुए थानाध्यक्ष अतुल चतुर्वेदी द्वारा दोनों पक्षों को बुलाकर सुनवाई की गयी जिसमें यह तय हुआ की पेड़ की कटान होने दिया जाय। पेड़ की कीमत ठेकेदार के पास थानाध्यक्ष की निगरानी में सुरक्षित रखा जाएगा। पैमाइश के बाद जिस पक्ष के हिस्से में पेड़ आएगा, पेड़ की कीमत उसके सुपुर्द कर दी जायेगी।

पेड़ की कीमत करीब 90 हजार रूपए है। इस करार पर दोनों पक्षों को राजी कर थानाध्यक्ष अतुल चतुर्वेदी ने सूझबूझ के साथ शांति पूर्वक समझौता करा दिया और समझौता पत्र पर दोनों पक्षों के हस्ताक्षर लेकर शान्ति व्यवस्था बनाये रखने की हिदायत दी।

थाना क्षेत्र के लेदई पुरवा गांव में स्थित बगीचे में लगा आम का एक पेड़ आंधी तूफान में गिर गया था जिस पर गांव के 41 लोगों द्वारा दावा किया जा रहा था। यह मामला एसडीएम के समक्ष पेश हुआ। एसडीएम के आदेश पर सभी पक्षों को बुलाकर समझौता करा दिया गया है। अब विवाद जैसी कोई स्थिति नहीं है। सभी पक्षों को शांति व्यवस्था बनाए रखने की सख्त चेतावनी दी गयी है।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।