बिजलिकर्मियो ने मुख्यमंत्री सहित शासन के जिम्मेदार अधिकारियों से निजीकरण के निर्णय पर जनहित में पुनर्विचार की कि अपील - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Wednesday, 23 September 2020

बिजलिकर्मियो ने मुख्यमंत्री सहित शासन के जिम्मेदार अधिकारियों से निजीकरण के निर्णय पर जनहित में पुनर्विचार की कि अपील

कैलाश सिंह विकास वाराणसी


 बिजलिकर्मियो ने मुख्यमंत्री सहित शासन के जिम्मेदार अधिकारियों से निजीकरण के निर्णय पर जनहित में पुनर्विचार की कि अपील 

 जिला कांग्रेस कमेटी वाराणसी एवं पंडित कमलापति त्रिपाठी फाउंडेशन ने  संघर्ष समिति द्वारा पूर्वांचल विधुत वितरण निगम के  निजीकरण के विरोध में   चलाए जा रहे  आंदोलन को आज   सभास्थल पर उपस्थित होकर अपना लिखित समर्थन दिया ।

 वाराणसी 22 सितम्बर । विधुत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के बैनर तले प्रबन्ध निदेशक कार्यालय भिखारीपुर पर निजीकरण के खिलाफ आज इकिसवें दिन भी वाराणसी के समस्त बिजली कर्मचारियों एवं अभियंताओं ने प्रबन्ध निदेशक कार्यालय भिखारीपुर पर  किया जोरदार  विरोध प्रदर्शन किया ।

   संघर्ष समिति के पदाधिकारियों ने कहा कि अभियंताओं व कर्मचारियों ने सरकार के निजीकरण के फैसले की घोर निंदा की।  निजी कंपनियां आगरा, नोएडा, मुंबई, दिल्ली जैसे शहरों में  सरकारी धन को लूटने में लगी हुई हैं। एक दाम में बिजली खरीदकर महंगे रेट पर बिजली बेची जा रही है। इससे जनता परेशान है। निजीकरण होने पर लागू वर्तमान बिजली दरों में अभूतपूर्व वृद्धि होगी, बिजली दरों में वृद्धि होने से  दैनिक उपयोग की वस्तुओं के मूल्य में वृद्धि होगी जिससे आम जनता की जेब कटेगी | वर्तमान में यदि आम उपभोक्ता का कार्य नहीं हो रहा है तो सूचना का अधिकार अधिनियम के तहत सूचना मांग सकते हैं, जबकि निजीकरण होने के पश्चात आप  ऐसी सूचना  नहीं मांग सकते | 
वक्ताओं ने कहा पूर्ववर्ती सरकार द्वारा किए गए ग्रेटर नोएडा और आगरा में निजीकरण के प्रयोग असफल साबित हुए हैं। निजी कम्पनी की ओर से सरकारी धन का लूट किया जा रहा है। कम दाम पर बिजली पावर कॉरपोरेशन से खरीद कर अधिक दाम पर जनता को बेचकर जनता के करोड़ों रुपये लूटे जा रहे हैं। सरकार ने पूर्वांचल निगम के निजीकरण का फैसला किया है, जहां पर भूमिगत केबिलिंग का कार्य, स्काडा एवं अन्य विद्युत प्रणाली नियंत्रण पर अरबों  खरबों रुपये खर्च कर सुधार की प्रक्रिया चल रही है। फलस्वरूप आपूर्ति सुधरी है। साथ ही लाइन लॉस घट रहा है एवं थ्रू-रेट में भी काफी वृद्धि हो रही है। समिति ने मुख्यमंत्री सहित शासन के अन्य अधिकारियों से निर्णय पर जनहित में पुनर्विचार करने की अपील की है। इस मौके पर बड़ी संख्या में बिजली विभाग के कर्मचारी एवं अभियंता उपस्थित रहे।
  *जिला कांग्रेस कमेटी वाराणसी एवं पंडित कमलापति त्रिपाठी फाउंडेशन ने  संघर्ष समिति द्वारा पूर्वांचल विधुत वितरण निगम के  निजीकरण के विरोध में   चलाए जा रहे  आंदोलन को आज   सभास्थल पर उपस्थित होकर अपना लिखित समर्थन दिया* महानगर अध्यक्ष राघवेंद्र चौबे जी ने बताया कि एक तरफ जहां देश आर्थिक संकट से जूझ रहा है वही दूसरी तरफ यह सरकार निजीकरण का रास्ता अपनाकर देश की जनता के साथ ही पढ़े-लिखे बेरोजगार बच्चों के भविष्य के साथ भी खेलवाड़ कर रही है हम इसका पुर जोर विरोध करते है और बिजलीकर्मी केवल अपने लिए ही नही देश की गरीब जनता के लिए भी लड़ाई लड़ रहा है इसलिए आज हम इस आंदोलन का समर्थन कर रहे है। प्रतिनिधि मंडल में मुख्य रूप से प्रजानाथ शर्मा,महानगर अध्यक्ष राघवेंद्र चौबे,जिलाध्यक्ष राजेश्वर सिंह पटेल,शैलेंद्र सिंह आदि पदाधिकारी एवं सदस्य उपस्थित हुए।

  सभा को सर्वश्री ई0 चंद्रेशखर चौरसिया,आर0के0 वाही, डॉ0 आर0बी0 सिंह, मायाशंकर तिवारी, ए0के0 श्रीवास्तव,ई0 जगदीश पटेल, विजय सिंह, अंकुर पाण्डेय, राजेन्द्र सिंह,जिउतलाल,रमाशंकर पाल, रमन श्रीवास्तव  आदि ने संबोधित किया।

 . 

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।