वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वाराणसी के निर्देशन में चेकिंग अभियान - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Wednesday, 16 September 2020

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वाराणसी के निर्देशन में चेकिंग अभियान

कैलाश सिंह विकास वाराणसी 

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वाराणसी के निर्देशन में चेकिंग अभियान

महानगर क्षेत्र में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वाराणसी महोदय के निर्देशन में यातायात नियमों का उल्लघंन करने वाले चालकों के विरूद्ध यातायात पुलिस का आज चला विशेष चेकिंग अभियान।

यातायात पुलिस द्वारा विशेष चेकिंग अभियान के दौरान 02 पहिया वाहन पर 03 सवारी, फाल्टी नम्बर प्लेट, बिना हेलमेट तथा 04 पहिया वाहन पर काली फिल्म, हूटर एवं बिना ड्राइविंग लाइसेंस वाहन चलाने वाले चालकों के साथ-साथ डग्गामार वाहनों, बसों, कलर कोडिंग के आधार पर आटो रिक्शा/ई-रिक्शा के संचालन हेतु चलाया गया विशेष चेकिंग अभियान।

आज चलाये गये अभियान में 02 पहिया वाहन पर 03 सवारी में कुल 55 वाहन, फाल्टी नम्बर प्लेट में कुल 49 वाहन, बिना हेलमेट में कुल 1007 वाहन, 04 पहिया वाहन पर काली फिल्म में कुल 02 वाहन, हूटर पर कुल 01 वाहन, बिना ड्राइविंग लाइसेंस वाहन चलाने वाले चालकों में कुल 17 वाहन, कलर कोडिंग के आधार पर आटो रिक्शा/ई-रिक्शा के संचालन कुल 48 वाहन अर्थात कुल 1179 वाहनों के विरूद्ध यातायात नियमों के क्रियान्वयन के अन्तर्गत की गयी कार्यवाही।*

डग्गामार वाहनों के विरूद्ध अभियान के दौरान कुल 56 डग्गामार वाहनों के विरूद्ध सीज की कार्यवाही कर उन्हें यातायात लाइन में कराया गया खड़ा। साथ ही साथ कुल 441 वाहनां

*दिनांकः 15.09.2020 को भी उक्त के निमित्त यातायात पुलिस का विशेष चेकिंग अभियान लगातार जारी रहेगा।*

    प्रेस/मीडिया के माध्यम से मैं पुलिस अधीक्षक यातायात वाराणसी आम जनमानस से अपेक्षा करता हूॅं कि वह वाहन चलाते समय यातायात नियमों का पालन करते हुए यातायात पुलिस का सुगम यातायात संचालन कराने में सहयोग प्रदान करें तथा बाधा रहित सुरक्षित चलें।
  
 

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।