पुलिस व वन विभाग की मिलीभगत से हरे पेड़ों पर लकड़ी माफियाओं का चल रहा है आरा - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Thursday, 3 September 2020

पुलिस व वन विभाग की मिलीभगत से हरे पेड़ों पर लकड़ी माफियाओं का चल रहा है आरा

राकेश सिंह गोण्डा 

 पुलिस व वन विभाग की मिलीभगत से हरे पेड़ों पर लकड़ी माफियाओं का चल रहा है आरा

 गोंडा। मनकापुर कोतवाली क्षेत्र के टिकरी रेंज के रेंजर के सख्त तेबर से लकड़ी माफियाओं में मचा हड़कंप लकड़ी के अवैध कटान पर पूर्ण रूप से लगाई रोक जिससे लकड़ी माफिया तिलमिला उठे वहीं पर हरियाली और पर्यावरण प्रदूषण को बचाने के लिए रेंजर टिकरी का यह फरमान से क्षेत्रवासियों में खुशी की लहर है और वहीं पर लकड़ी माफिया अवैध कटान को लेकर परेशान हैं कटान करने के लिए नई रणनीति अपनाने की सोच रहे हैं जिससे वन विभाग से बचा जाए नाम न छापने की शर्त पर कुछ ठेकेदारों ने बताया की सुबह 4:00 से 6:00 के टाइम कटान करेंगे वहीं पर मनकापुर क्षेत्र अवैध कटान का गढ़ बन चुका है जहां से दर्जनों गाड़ियों की अवैध लोडिंग होती है बताते चलें की सादुल्लाह नगर रेंज में सैकड़ों पेड़ों की अवैध कटान हर रोज होती है जहां पर मसकनवा क्षेत्र एक ऐसा क्षेत्र है जहां पर महीनों में 50 गाड़ी अवैध लकड़ी की लोडिंग बन विभाग के कर्मचारियों और पुलिस की मिलीभगत से लोडिंग होती है
वहीं पर वन विभाग और पुलिस की मिलीभगत से टिकरी रेंज और सादुल्लानगर रेंज में अवैध कटान चरम पर है जिससे माफियाओं के हौसले बुलंद है शिकायत करने पर शिकायतकर्ता के नाम पुलिस और बन विभाग खुलासा कर देते है जिससे लकड़ी माफिया शिकायतकर्ता पर दबाव बनाने की कोशिश करते हैं जहां पर मनकापुर कोतवाली क्षेत्र में अवैध कटान को लेकर चर्चा का विषय बना हुआ है वहीं पर इससे पीछे छपिया क्षेत्र कम नहीं है छपिया क्षेत्र के मसकनवा में सूत्रों की माने तो 50 गाड़ी महीने में अवैध लकड़ी की लोडिंग होती है जिससे वन विभाग के अधिकारी और पुलिस की मिलीभगत से होती है बिना पुलिस और वन विभाग के लकड़ी की लोडिंग संभव नहीं है जहां पर मोटी रकम लेकर अवैध लकड़ी की लदान कराई जाती है वहीं पर लकड़ी माफिया बन विभाग और पुलिस की साँठ गांठ से होती है वन विभाग के उच्च अधिकारी डीएफओ गोंडा जानकर अनजान बने हुए हैं।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।