धूमधाम से मनाया गया विश्व फार्मेसिस्ट दिवस। - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Saturday, 26 September 2020

धूमधाम से मनाया गया विश्व फार्मेसिस्ट दिवस।

कैलाश सिंह विकास वाराणसी


धूमधाम से मनाया गया विश्व फार्मेसिस्ट दिवस।

आज दिनांक 25 सितंबर 2020, *विश्व फार्मासिस्ट दिवस* को जिले के फार्मेसिस्टों ने धूमधाम से मनाया। इस उपलक्ष में श्री शिव प्रसाद गुप्त मंडलीय चिकित्सालय के सेमिनार  कक्ष में एक गोष्ठी का आयोजन किया गया।

गोष्ठी को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि के रूप में राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के अध्यक्ष डॉ शैलेंद्र कुमार सिंह ने इस वर्ष की थीम *Transforming of  Global Health* पर प्रकाश डालते हुए फार्मेसिस्टों की उपयोगिता के बारे में बताया। औषधियों को पहचानना, उनके गुण दोष को जानना उस अनुरूप उनका निर्माण करना रखरखाव करना, वितरण करना एवं  यह भी सुनिश्चित करना कि सबको सही दवा सही कीमत पर मिले। पेनडेमिक के इस दौर में फार्मेसिस्टों की उपयोगिता तो और बढ़ गई है। उन्होंने बताया कि नशे की प्रवृत्ति, समाज में व्याप्त भ्रष्टाचार, नागरिक अनुशासनहीनता, लालच क्रोध और उन्माद में किया गया व्यवहार भी बीमारी है। व्यक्ति जब तक शारीरिक, मानसिक, सामाजिक, आध्यात्मिक और आर्थिक रूप से पूर्ण सक्षम नहीं है, तब तक वह पूरी तरह स्वस्थ नहीं है।
शिक्षा का स्तर सुधारना, खान-पान रहन-सहन का समुचित अनुशासन, भ्रष्टाचार अपराध पर लगाम, प्राणायाम व्यायाम इन्हें भी हमें औषधियों के रूप में अपनाना होगा। तब जाकर *ट्रांसफॉर्मिंग ऑफ ग्लोबल हेल्थ* की परिभाषा साकार होगी।
गोष्ठी में आयुर्वेद होम्योपैथिक वेटरनरी मॉडर्न सभी विधाओं के फार्मेसिस्ट एवं बीएचयू रेलवे और रूलर अर्बन के भी और फार्मेसिस्ट मौजूद रहे।

कार्यक्रम में पांच फार्मेसिस्ट अनिल कुमार राय, प्रदीप श्रीवास्तव, अरुण श्रीवास्तव, अनिल सिंह आई ए सिद्दीकी को सम्मानित किया गया।
सभा अध्यक्षता जी एन सिंह एवं संचालन जे के सिंह ने किया।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।