सड़क दुर्घटना में शिक्षिका की दर्दनाक मौत बहनोई की हालत गंभीर - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 7 September 2020

सड़क दुर्घटना में शिक्षिका की दर्दनाक मौत बहनोई की हालत गंभीर

राकेश सिंह गोण्डा 

सड़क दुर्घटना में शिक्षिका की दर्दनाक मौत बहनोई की हालत गंभीर

गोण्डा। सोमवार को एक शिक्षिका की कस्बे में सड़क हादसे में दर्दनाक मौत हो गयी। शिक्षिका शिल्पा वर्मा जनपद अयोध्या के बीकापुर कोतवाली अंतर्गत ग्राम चौधरी नगर चांदपुर की रहने वाली थी। उनकी नियुक्ति वज़ीरगंज के प्राथमिक विद्यालय नगवा तृतीय में सहायक अध्यापिका पद थी।

सोमवार को विद्यालय आते समय यह दर्दनाक हादसा हुआ। बाइक चला रहे शिक्षिका के बहनोई दुर्गा प्रसाद वर्मा निवासी मिझौली किसुनदासपुर थाना तारुन अयोध्या भी गम्भीर रूप से घायल हो गए जिनका सीएचसी पर प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया।

शिक्षिका शिल्पा वर्मा 8 सितंबर 2018 में सहायक अध्यापिका बनी थी। इस खुशी में विद्यालय में छोटी पार्टी का आयोजन भी किया गया था। उनके पहुंचने से पहले मौत ने उन्हें अपनी आगोश में ले लिया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पिता शिव प्रसाद वर्मा की तहरीर पर टैंकर चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। टैंकर पुलिस के कब्जे में है जबकि चालक मौके से भागने निकला।

नियुक्ति की वर्षगांठ पर मौत की मुहर, 8 सितंबर 2018 को शिक्षिका पद हुई थी तैनाती

जिस तारीख को शिल्पा वर्मा सहायक अध्यापिका बनी, उसी तारीख यानी 8 सितंबर को हादसे में उसकी जान भी चली गई। शिक्षिका शिल्पा वर्मा की आठ सितंबर 2018 को सहायक अध्यापिका पद पर नियुक्ति हुई थी। वह अपने बहनोई के साथ गोण्डा जिला मुख्यालय पर रहकर विद्यालय आती-जाती थी।

उनके बहनोई दुर्गा प्रसाद वर्मा निवासी मिझौली किसुनदासपुर रूपापुर थाना तारुन अयोध्या गोण्डा महेंद्रा कोचिंग में पढ़ाते थे। शनिवार को दोनों घर चले गए थे। सोमवार को वापस विद्यालय आते समय टैंकर की चपेट में आकर शिल्पा की दर्दनाक मौत हो गयी जबकि बाइक चला रहे शिक्षिका के बहनोई दुर्गा प्रसाद वर्मा भी गंभीर रूप से घायल हो गए जिनका इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है।

बताते हैं कि सोमवार को शिक्षिका की नियुक्ति की वर्षगांठ थी जिसकी खुशी में उन्होंने विद्यालय में छोटी पार्टी का आयोजन भी कर रखा था। विद्यालय में अन्य सहकर्मी शिक्षिका की प्रतीक्षा कर रहे थे कि हादसे की सूचना पहुंच गयी। सब अवाक रह गए। विधाता ने जिस तारीख को नियुक्ति संयोग मिलाया था, उसी तारीख को उसे अपने पास बुला लिया। फ़िलहाल घटना से शिक्षक समुदाय सदमें में है।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।