कानपुर : ए आर टी ओ आफिस में छापा - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Wednesday, 16 September 2020

कानपुर : ए आर टी ओ आफिस में छापा

अरविंद शर्मा कानपुर

ए आर टी ओ आफिस में छापा

 कानपुर देहात के एआरटीओ कार्यालय में आज एडीएम प्रशासन और एसडीएम अकबरपुर ने टीम के साथ छापा मारा , छापेमारी के दौरान एआरटीओ ऑफिस के कर्मचारियों और दलालों में हड़कम्प मच गया। एडीएम प्रशासन और एसडीएम ने एआरटीओ ऑफिस के बाहर सजी दलालों की दुकानों को ध्वस्त कर दिया। मौके से बहुत से दस्तावेज के साथ 3 लोगो को पकड़ा गया है । वही छापेमारी के बाद एआरटीओ ऑफिस में सन्नाटा छा गया  कर्मचारियो की कुर्सियां ऑफिस में खाली पड़ी थी पर कुर्सियों में कोई ऑफिस का कर्मचारी नही बैठा पाया गया। 

 योगी सरकार जीरो टालरेंस पर कार्य करने को लेकर अपने अधिकारियो को दिशा निर्देश दे रहे बावजूद इसके जनपद के ऑफिसो में भ्र्ष्टाचार जारी है जिसे देखते हुए अब अधिकारी ऑफिसो में ताबड़तोड़ छापेमारी कर कार्यवाही करने में लग गए है दरअसल कानपुर देहात के एआरटीओ ऑफिस में बहुत समय से दलालों के सक्रिय होने सूचना जिला प्रशासन को मिल रही थी । एआरटीओ ऑफिस पर आरोप थे कि यहाँ दलालों के द्वारा कार्य किये जाते है दलाल ऑफिस के बाहर अपनी दुकानें सजाए बैठे रहते है कोई भी उपभोक्ता एआरटीओ ऑफिस में काम के लिये जाता है तो उनका काम नही यहाँ सिर्फ दलालों के द्वारा ही काम किया जाता है। इसी सूचना पर आज एडीएम प्रशासन और एसडीएम अकबरपुर ने संयुक्त रूप से एआरटीओ ऑफिस में छापा मारा तो बाहर अपनी दुकानें सजाए बैठे दलालों में हड़कम्प मचा गया लोग आनन फानन में भाग खड़े हुए वही मौके से 3 लोगो को गिरफ्तार किया है और बहुत से कागजात बरामद किये है। वही एआरटीओ ऑफिस कर्मचारी भी ऑफिस छोड़कर इधर उधर टहलते नजर आये ऑफिस की कर्सियां खाली नजर आयी। वही एडीएम प्रशासन पंकज वर्मा ने बताया कि एआरटीओ ऑफिस में छापेमारी की गयी है 3 लोगो को पकड़ा गया है और बहुत से दस्तावेज बरामद किये गए है।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।