KANPUR मा0 मुख्यमंत्री ने की वीडियो कांफ्रेंसिंग के द्वारा अकबरपुर कोतवाली में महिला हेल्प डेस्क का हुआ शुभारंभ - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Saturday, 24 October 2020

KANPUR मा0 मुख्यमंत्री ने की वीडियो कांफ्रेंसिंग के द्वारा अकबरपुर कोतवाली में महिला हेल्प डेस्क का हुआ शुभारंभ

ब्यूरो कानपुर देहात:अरविन्द शर्मा

मा0 मुख्यमंत्री ने की वीडियो कांफ्रेंसिंग के द्वारा अकबरपुर कोतवाली में महिला हेल्प डेस्क का हुआ शुभारंभ 

नारी सुरक्षा सम्मान के लिए लोगों को व्यापक जनजागरूकता से जोड़ना होंगा: एडीजी 

कानपुर देहात।अकबरपुर कोतवाली में महिला हेल्प डेस्क का शुभारंभ के दौरान एडीजी जय नारायण सिंह, कानपुर मंडलायुक्त राजशेखर, आईजी कानपुर मोहित अग्रवाल, जिलाधिकारी डॉ0 दिनेश चंद्र, पुलिस अधीक्षक केशव कुमार चौधरी, अकबरपुर रनियां सांसद देवेंद्र सिंह भोले, अकबरपुर रनिया विधायक प्रतिभा शुक्ला, भाजपा जिलाध्यक्ष अविनाश सिंह चौहान, अकबरपुर चेयरमैन ज्योतिषना कटियार सहित अन्य जनप्रतिनिधि व अधिकारीगण कार्यक्रम का दीप प्रज्वलित कर शुभारंभ किया। 
वही इस मौके पर अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों ने भी हिस्सा लिया तथा वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए मा0 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नारी सशक्तिकरण को लेकर मिशन शक्ति के तहत महिलाओं की सुरक्षा को लेकर दिशा निर्देश दिए वहीं कानपुर जोन में अकबरपुर कोतवाली को पहला हेल्प डेक्स तैयार कर जिसका शुभारंभ किया गया जबकि हर थाने में एक महिला हेल्प डेस्क तैयार की जाएगी और इस हेल्प डेस्क में सिर्फ महिला पुलिसकर्मी को तैनात कर महिला उत्पीड़न या अन्य मामलों में उनके द्वारा समस्याएं सुनी जाएंगी और उसका समय एक निस्तारण होगा। 
मा0 मुख्यमंत्री ने लखनऊ में वीडियों कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से मिशन शक्ति अभियान के तहत महिला हेल्प डेस्क का उद््घाटन करने के बाद सम्बोधित करते हुए कहा है कि महिला सुरक्षा, सम्मान एवं स्वावलम्बन के लिए संचालित मिशन शक्ति अभियान को जन आन्दोलन बनाना होंगा। इस अभियान से सभी को जोड़ना होंगा ताकि यह केवल सरकारी कार्यक्रम बन कर न रह जाय। 
      उन्होने कहा कि महिला हेल्प डेस्क को प्रभावी बनाने के लिए रात-दिन 24 घण्टे महिला कर्मचारियों की तैनाती की जाय। अच्छे प्रकार से उनकी ट्रेनिंग करायी जाय। विभिन्न विभागों में महिलाओं के उत्थान एवं महिला सशक्तिकरण के लिए संचालित योजनाओं की जानकारी महिला हेल्प डेस्क में उपलब्ध रहे ताकि किसी पीड़ित महिला के आने पर उसके योग्यतानुसार योजना का लाभ दिलाया जा सकें। महिला हेल्प डेस्क में सम्वेदशील महिला कर्मचारियों की तैनाती की जाय जो पीड़ित महिला के समस्याओं को सुनकर उनका निदान कर सके। 
     उन्होने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा के लिए जारी हेल्प लाइन नम्बर-1090 वूमेन पावर लाइन, 181 महिला हेल्प लाइन, 112 पुलिस आपातकालीन सेवा, 1076 मुख्यमंत्री हेल्प लाइन, 1098 चाइल्ड लाइन, 102 स्वास्थ्य सेवा तथा 108 एम्बुलेन्स सेवा आदि का व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जाय। प्रत्येक स्कूल, कालेज में जहाॅ लड़किया पढती है इन नम्बरों को प्रदर्शित किया जाय ताकि किसी प्रकार की घटना होने पर वे इसकी मदद ले सकें। उन्होने कहा कि नारी शक्ति अभियान प्रत्येक माह संचालित करते हुए वासन्तिक नवरात्र के अवसर पर समाप्त किया जायेंगा।
      मुख्य कार्यक्रम का आयोजन अकबरपुर कोतवाली में किया गया जहाॅ  महिला हेल्प डेस्क का शुभारंभ किया गया। 
         एडीजी ने कहा कि नारी उत्थान के बिना समाज का उत्थान सम्भव नही है। उन्होने कहा कि नारी सुरक्षा सम्मान के लिए लोगों को व्यापक जनजागरूकता से जोड़ना होंगा। इसके लिए ऐसे कार्यक्रम आयोजित करने होंगे, जिससे समाज जुड़कर उत्तरोत्तर प्रगति करें। जिलाधिकारी ने कहा कि आज से सभी थानों में महिला हेल्प डेस्क काम करना शुरू कर दिया है जहाॅ पर केवल महिला पुलिस अधिकारी ही पीड़ित महिला की समस्या को सुनेंगी। कोई भी पीड़ित महिला हेल्प डेस्क में जाकर अपनी शिकायत या समस्या दर्ज करा सकती है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि कोतवाली महिला हेल्प डेस्क में महिला आरक्षी की ड्यिूटी लगायी गयी है। यहाॅ पर कम्प्यूटर, प्रिन्टर, रजिस्टर आदि उपलब्ध कराया गया है। पीड़ित महिला के आने पर उसकी शिकायत रजिस्टर में दर्ज की जायेंगी तथा उसे प्राप्ति रसीद भी दी जायेंगी।  इस मौके पर जिला सूचना अधिकारी वीएन पाण्डेय अन्य विभागों के अधिकारीगण व जनप्रतिनिधिगण उपस्थित रहे।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।