बांदा : डीएम ऩे ठण्ड काल में कोरोना प्रकोप ठंडा रखने को किया रेड एलर्ट।लापरवाही पर कार्यवाई - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 30 November 2020

बांदा : डीएम ऩे ठण्ड काल में कोरोना प्रकोप ठंडा रखने को किया रेड एलर्ट।लापरवाही पर कार्यवाई

सलिल यादव बांदा

बांदा : डीएम ऩे ठण्ड काल में कोरोना प्रकोप ठंडा रखने को किया रेड एलर्ट।लापरवाही पर कार्यवाई

बांदा। ठंड के मौसम में कोरोना के प्रकोप को ठंडा रखने के लिये जिलाधिकारी आनंद कुमार सिंह नेस्वास्थ विभाग को रेड एलर्ट कर दिया है। सतर्कता का पाठ पढ़ाते हुये कड़े निर्देश में कहा है की जाड़े के मौसम में कोरोना मरीजों की संख्या में वृधि को चेतावनी समझे। दिसंबर और जनवरी दो माह तक अत्यंत सतर्कता बरते हालातों से निपटने की ठोस तैयारी हो। व्यवस्था में लचरता बर्दाश्त नहीं की जायेगी। अस्पतालों में जरूरी दवाइयों की पर्याप्त उपलब्धता के साथ ही बेड से लेकर आइसीयू, एसटीयू और वेंटिलेटर तक सभी जरूरी संसाधन जुटाए । एप्स की मदद से संक्रमण प्रकरणों की मैपिंग सुनिश्चित हो। मैपिंग के लिए गूगल अर्थ प्रो, माई एप्स और गूगल एप शीट में से किसी भी एक का बांदा जिले में इस्तेमाल किया जा सकता है। 
बढ़ते कोरोना मामलों को लेकर जिलाधिकारी ने एल-2 व एल-3 अस्पतालों में उपकरण, दवाइयां, प्रशिक्षण और मैन पावर के साथ ही संक्रमित मरीजों को भर्ती करने की तैयारियों पर खासा जोर दिया है। कहा है कि आइसीयू व एचडीयू बेड्स को यथासंभव बढ़ाया जाए। पर्याप्त मात्रा में वेंटिलेटर एवं एचएफएनसी उपलब्धता हो। आक्सीजन की निर्वाध आपूर्ति रहे।साथ ही बढ़ते संक्रमण को देखते हुए क्वाल्टिटी कांटेक्ट ट्रेसिंग पर न केवल विशेष बल देने बल्कि इसे प्रभावशाली बनाने की जरूरत है। 
जिलाधिकारी  ने एल-1 अस्पतालां को तैयार स्थिति में रखनें, इन अस्पतालों में भी 20 प्रतिशत बेड्स पर आक्सीजन की व्यवस्था के निर्देश दिये हैं। अधिक संक्रमण केस वाले इलाकों की मैपिंग कराकर चिन्हित व्यक्तियों की आरटीपीसीआर के जरिए जांच हो य़ह मैपिंग एप्स के जरिए कराई जाए। गौतमबुद्ध नगर, प्रयागराज और कानपुर नगर में क्रमशः गूगल अर्थ प्रो माई एप्स और गूगल एप शीट एप्स को अपनाया गया है। बांदा जिले में मैपिंग के लिए उक्त तीन विकल्पों में से किसी भी एक एप को चुना जा सकता है। आरटीपीसीआर टेस्ट को बढ़ाया जाना है। जनपद के लक्ष्य को लेकर शासन शीघ्र सूचित करेगा। 
उन्होंने कोरोना टेस्टिंग को सर्वसुलभ बनाने को कहा । यह काम शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में स्टैटिक टेस्टिंग सेंटर बनाकर किया जाए। सेंटर सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक खुलेगें । ताकि हर व्यक्ति आसानी से जांच करा सके। स्टैटिक टेस्टिंग सेंटरों की सूची रविवार की शाम तक निदेशक संचारी रोग एवं स्टेट सर्विलांस अधिकारी को दें। कंटेनमेंट जोन को लेकर उन्होंने गृह विभाग की गाइडलाइन का पालन करने को कहा । संक्रमण से बचाव के लिए जनता को जागरूक करने के साथ ही ग्राम व मुहल्ला निगरानी समितियों और रेजीडेंट वेलफेयर एसोसिएशन को सक्रिय करने पर जोर दिया । कोरोना पाजिटिव से निगेटिव हुए लोगों के लिए जिला अस्पताल समेत सभी प्रमुख अस्पतालों में पोस्ट कोविड केयर सेंटर स्थापित किए जाएं। सभी राजकीय प्रसव केंद्रों में गर्भवती महिलाओं के लिए एन्टीजन किट्स की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। उन्होंने चेताया है कि निर्देशों के अनुपालन में किसी भी तरह की ढिलाई या शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।