बांदा: सूअर का शिकार करनें में मध्य प्रदेश के शिकारी गिरफ्तार, बम से करते थे शिकार - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 30 November 2020

बांदा: सूअर का शिकार करनें में मध्य प्रदेश के शिकारी गिरफ्तार, बम से करते थे शिकार

सलिल यादव बांदा

बांदा: सूअर का शिकार करनें में मध्य प्रदेश के शिकारी गिरफ्तार, बम से करते थे शिकार

बांदा।सूअर का शिकार करनें में मध्य प्रदेश के तीन शिकारी वन विभाग ऩे दबोच लिया। शिकारियों के पास से एक लग्जरी चार पहिया वाहन एंव मांस भी बरामद हुआ। शिकारी विस्फोटक सामग्री का इस्तेमाल करके जंगली सूअर का शिकार करते थे। कई अन्य शिकारी भागऩे में भी सफल रहे।  पकड़े गए आरोपियों के पास जंगली सूअर का शव, लगभग दो बोरा मांस और जाइलो कार बरामद हुई है।
रविवार को दोपहर देर बाद गिरवां थाना क्षेत्र के बहादुरपुर स्योढ़ा जंगल में शिकारियों की सुराग मिलने पर वन विभाग की टीम ने घेराबंदी कर तीन शिकारियों को पकड़ लिया। इनके पास जाइलो कार में शिकार किया गया एक सूअर और करीब दो बोरों में सूअर का मांस था।
तीनों आरोपी सीमावर्ती मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले के राघवेंद्र प्रताप, जमुना प्रसाद व राजू कुशवाहा हैं। वन विभाग की टीम ने तीनों को पकड़कर कार और मांस आदि अपने कब्जे में ले लिया। वन विभाग के एसडीओ एमपी गौतम ने बताया कि मांस के लोथड़े में विस्फोटक यानी बम रखकर शिकारी शिकार करते थे। सूअर द्वारा मांस खाते ही विस्फोट हो जाता है। एसडीओ ने बताया कि पकड़े गए शिकारी मांस के व्यापारी हो सकते हैं। इनके संगठित गिरोह की भी संभावना है। इनके सहयोगियों की भी सुरागरशी की जा रही है।
एसडीओ ने बताया कि दबिश देने वाली टीम में वन क्षेत्राधिकारी श्यामलाल, वन रक्षक कमलेश कुमार, वन दरोगा हरीकांत सहित अकबरपुर वन चौकी प्रभारी आदि शामिल रहे। पकड़े गए शिकारियों के विरुद्ध वन्य जीव संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा 9, 39 व 51 के तहत रिपोर्ट दर्ज की गई हैं। साथ ही गिरवां थाना पुलिस को भी कार्रवाई के लिए तहरीर देकर आरोपियों को सौंपा गया है।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।