सीतापुर, जिले के 66 पीएचसी पर हुआ स्वास्थ्य मेलों का आयोजन. - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 11 January 2021

सीतापुर, जिले के 66 पीएचसी पर हुआ स्वास्थ्य मेलों का आयोजन.


सीतापुर, 10 जनवरी। वैश्विक महामारी कोरोना के चलते प्रभावित हुई स्वास्थ्य सेवाओं को एक बार फिर से तेजी से बहाल किया जा रहा है। इसी क्रम में करीब नौ माह बाद एक बार फिर से मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेले की शुरूआत हुई है। हर रविवार को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर आयोजित होने वाले इन स्वास्थ्य मेलों का पहला मेला इस रविवार को जिले की सभी 66 पीएचसी पर आयोजित किया गया। जिनमें कुल 6829 मरीजों का स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें चिकित्सीय परामर्श व आवश्यक दवाएं दी गईं। मेले में 795 पात्रों को गोल्डेन कार्ड भी उपलब्ध कराए गए। 

एसीएमओ और मेला के नोडल अधिकारी डॉ. उदय प्रताप ने बताया कि मेले में आए हुए मरीजों एवं उनके तीमारदारों को मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान की जानकारी दी गई। पात्र लाभार्थियों को गोल्डन कार्ड वितरित किए गए। इसके साथ ही मेले में ओपीडी के साथ, कोरोना की जांच , टीबी, मलेरिया, डेंगू, दिमागी बुखार, कुष्ठ रोग से संबंधित जानकारी एवं आवश्यक जांच तथा उपचार किया गया। इसके अलावा उक्त रक्तचाप, शुगर आदि की स्क्रीनिंग भी की गई। इसके अलावा गर्भावस्था एवं प्रसव कालीन परामर्श, संस्थागत प्रसव संबंधी जागरूकता, जन्म पंजीकरण परामर्श, नवजात शिशु स्वास्थ्य सुरक्षा परामर्श एवं सेवाएं, पूर्ण टीकाकरण परामर्श एवं सेवाएं, परिवार नियोजन संबंधी परामर्श की सुविधाएं दी संबंधित लोगों को दी गईं। जिन जांचों को पीएचसी स्तर पर करना संभव नहीं था, उन्हें उच्चस्तरीय इकाइयों पर रेफर किया गया। 

उन्होंने बताया कि प्रत्येक पीएचसी पर कोविड प्रोटोकाल का कड़ाई से पालन किया गया। दो गज की शारीरिक दूरी के नियम का पालन करने के साथ आरोग्य मेले में पल्स ऑक्सीमीटर व इंफ्रा रेड थर्मामीटर इत्यादि की व्यवस्था के साथ कोविड हेल्प डेस्क भी बनाई गई थी। इस डेस्क पर लोगों की स्क्रीनिंग करने के बाद ही उन्हें आरोग्य मेले में प्रवेश दिया गया। एक छत के नीचे लोगों को सभी तरह की बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से पिछले साल मुख्यमंत्री आरोग्य मेलों को शुरू किया गया था, लेकिन कोविड-19 के चलते बीते मार्च माह इन्हें बंद कर दिया गया था। जिन्हें अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश पर इसे फिर से शुरू किया गया है

प्रत्युष गुप्ता

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।