BALRAMPUR बड़े हादसे को दावत दे रहा सरजू नहर का जर्जर पुलिया, जिम्मेदार बने अन्जान - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Friday, 15 January 2021

BALRAMPUR बड़े हादसे को दावत दे रहा सरजू नहर का जर्जर पुलिया, जिम्मेदार बने अन्जान

बलरामपुर से ब्यूरो की रिपोर्ट

बड़े हादसे को दावत दे रहा सरजू नहर का जर्जर पुलिया, जिम्मेदार बने अन्जान



रेहरा बाजार- बलरामपुर जनपद के उतरौला तहसील अंतर्गत विकास खण्ड रेहरा बाजार के ग्राम पंचायत बसावन बनकट, बंजरिया हुसैन व नौंवाकोल को जोड़ने वाले मार्ग के बीच में सरजू नहर पर एक पुलिया बनी हुई है।जिस से प्रतिदिन हजारों की संख्या में लोगो का आवागमन होता है।यही नही उक्त सड़क से आसपास के लोग  सादुल्लानगर,रेहरा,बंजरिया,नथुनिया मोड़,भरोसे गंज आदि जगहों पर भी आते-जाते है।साथ ही साथ कई छोटे बड़े वाहन भी इस सड़क से होकर गुजरते है।जो किसी बड़ी अनहोनी की तरफ इशारा कर रहा है।जानकर बताते है कि उक्त सरजू नहर पुलिया का निर्माण करीब एक दशक पहले हुआ था।जो अब जीर्ण-शीर्ण अवस्था में है।पुलिया का छत करीब एक फिट नीचे लटका हुआ है।जिससे काफी खतरे का डर बना हुआ है और लोग उक्त रास्ते से होकर गुजरने में डरते हैं।क्षेत्रवासियों का कहना है कि अगर उक्त पुलिया का निर्माण नहर विभाग द्वारा जल्दी से जल्दी नही कराया गया तो किसी दिन बड़ा हादसा हो सकता है।जिसकी सारी जिम्मेदारी सरयू नहर विभाग के कर्मचारियों और अधिकारियों की होगी।इसको लेकर यार मोहम्मद प्रधान बंजरिया हुसेन,अनंत राम वर्मा प्रधान बसावन बनकट,संतराम यादव प्रधान प्रतिनिधि नौवाकोल, अमिरका प्रसाद,राजकुमार वर्मा,सती वर्मा,अजय वर्मा,राजेश यादव,राजेन्द्र प्रसाद यादव,रामदेव,मनीराम यादव, जगदीश यादव,प्रेमचन्द आदि लोगों ने विभाग से जल्द पुलिया का निर्माण कराने की माँग की है।वहीं इसको लेकर जब अवर अभियन्ता सरयू नहर बलरामपुर से दूरभाष पर सम्पर्क कर जानकारी करनी चाही तो उनका मोबाइल कवरेज़ क्षेत्र से बाहर पाया गया।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।