अक्टूबर में बनाई गई छत जनवरी में ढह गई निंदनीय- अखिलेश यादव - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Wednesday, 6 January 2021

अक्टूबर में बनाई गई छत जनवरी में ढह गई निंदनीय- अखिलेश यादव


लखनऊ ब्यूरो

अक्टूबर में बनाई गई छत जनवरी में ढह गई निंदनीय- अखिलेश यादव

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा है कि गाजियाबाद के मुरादनगर में श्मसान स्थल पर दो दर्जन से ज्यादा मौतें विचलित करने वाली हैं। अक्टूबर में बनाई गई छत जनवरी में ढह गई। भाजपा राज में भ्रष्टाचार की यह निंदनीय घटना है जिससे सरकार अपने दाग नहीं बचा सकती है। अब यह बात तो साफ हो गई है कि 16 लाख की दलाली खाकर सत्ता दल के बड़े लोगों ने 25 जिंदगियां निगलने वाली मौत की छत का टेण्डर किया था। इसके उद्घाटन के शिलालेख पर मुख्यमंत्री जी और नगर विकास मंत्री जी का नाम अंकित हैं। भाजपा सरकार के इस जानलेवा अपराध को जनता माफ नहीं करेगी। भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरों टालरेंस का दावा करने वाली भाजपा सरकार मुरादनगर, गाजियाबाद के साथ पूरे राज्य में भ्रष्टाचार में सराबोर है।
      पूर्व मुख्यमंत्री  अखिलेश यादव ने गाजियाबाद के मुरादनगर की दर्दनाक घटना की जांच के लिए समाजवादी पार्टी की 10 सदस्यीय जांच कमेटी गठित की है जो 7 जनवरी 2021 को मुरादनगर जाकर पीड़ित परिवारों को सांत्वना देगी तथा दुर्घटना की जांच करेगी। समाजवादी जांच कमेटी सर्वश्री शहिद मंजूर पूर्व मंत्री मेरठ, रफीक अंसारी, विधायक मेरठ, राकेश यादव एमएलसी, नोएडा, आशुमलिक एमएलसी, गाजियाबाद, राशिद मलिक जिलाध्यक्ष गाजियाबाद, विनोद सविता सदस्य राष्ट्रीय कमेटी अलीगढ़, रमेश प्रजापति राष्ट्रीय सचिव गाजियाबाद, चौधरी राजपाल सिंह जिलाध्यक्ष मेरठ, अतुल प्रधान पूर्व प्रदेश अध्यक्ष छात्र सभा मेरठ तथा वीर सिंह जिलाध्यक्ष गौतमबुद्ध नगर शामिल हैं।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।