सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर रिटायर IAS व पूर्व चैयरमैन नोएडा Authority मोहिन्दर सिंह के 7 ठिकानों पर ED की छापेमारी - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Wednesday, 6 January 2021

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर रिटायर IAS व पूर्व चैयरमैन नोएडा Authority मोहिन्दर सिंह के 7 ठिकानों पर ED की छापेमारी

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर रिटायर IAS व पूर्व चैयरमैन नोएडा Authority मोहिन्दर सिंह के 7 ठिकानों पर ED की छापेमारी की गई व मोहिंदर सिंह के चार्टर्ड अकांउटेट के यहां भी छापेमारी की गई। मोहिंदर सिंह जब नोएडा Authority का चैयरमैन था तब उसने लगभग 3,17,59,675.23 वर्ग मीटर जमीन विवादास्पद समूहों को दीया था। मेहिंदर सिंह के दोनो बच्चे US में रहते है व उनके पास US में अबूत संपति है।

प्रश्न तो यह उठता है कि 4 हजार करोड के बकाए के बावजूद जमीन का आवंटन कैसे किया गया ?आरोपी मोहिंदर सिंह के मददगार अफसरों पर कारवाई क्यों नही हो रही? नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों से मोहिदंर सिंह का क्नेक्श्न क्या है  बकाया वसूलने के बजाए जमीन की लीज रिन्यू कैसे होती रही ? प्रश्न ये है कि नोएडा प्राधिकरण के किन किन अधिकारियों से माहिदंर सिंह की मिलीभगत है ?

सूत्र के मुताबिक पता चला कि जब ये मामला सामने आया तो बहुत सारे IAS अधिकारी बीच में शामिल थे, जिनके बडे बडे फलेट अम्रपाली में है। अधिकारीयों की वजह से हजारों एकट लैंड नोएडा , ग्रेटर नोएडा में बेच दिये गए। अनिल शर्मा व अमरपाली ग्रुप का कैसे विकास हुआ ये सभी को पता है कि महिदंर सिंह उसमें शामिल है। आज नोएडा व ग्रेटर नोएडा Authority बहुत ही गस्ता हालत में है क्योकि मोहिदंर सिंह ने उसे लूट लिया है। 

जब ED ने इस मामले को कारवाई करने शूरू कि तब मोहिंदर सिंह को 28 तारीक को समंन बेजा है। इन सभी सवालों के जवाब मिले गए और ऐसा खुलासा होगा वो ऐसे कौन से लुटेरे थे जो सफेद चादर में अपने चहरे को ठके हुये थे। आने वाले समय में ED मोहिदंर सिंह जैसे ओर आरोपियों पर कारवाई करके उन्हें सिलाको के पीछे करेगी।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।