VARANSHI डॉ नीलकंठ तिवारी ने किया मुख्यमंत्री आरोग्य मेले का शुभारम्भ - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 11 January 2021

VARANSHI डॉ नीलकंठ तिवारी ने किया मुख्यमंत्री आरोग्य मेले का शुभारम्भ

कैलाश सिंह विकास वाराणसी


राजघाट पीएचसी से राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ नीलकंठ तिवारी ने किया मुख्यमंत्री आरोग्य मेले का शुभारम्भ


वाराणसी। कोविड-19 के चलते बीते मार्च से स्थगित किये गये मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेले को एक बार फिर से हरी झंडी मिल गई। जिसमें प्रजनन, स्वास्थ्य सेवाओं के साथ गर्भवती, मातृ, बाल, किशोर स्वास्थ्य समेत अन्य सामान्य जांच की सुविधाएं दी गईं। रविवार को नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र राजघाट से प्रदेश के पर्यटन, संस्कृति, धर्मार्थ कार्य एवं प्रोटोकॉल राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ नीलकंठ तिवारी ने फीता काटकर जिले के जन आरोग्य मेले की शुरुआत की। इसके साथ ही रविवार को उत्तर प्रदेश के स्टांप एवं न्यायालय पंजीयन शुल्क राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रविन्द्र जयसवाल ने नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पाण्डेयपुर पर मेले का शुभारंभ किया। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र शिवपुर का निरीक्षण किया और केंद्र में तैनात चिकित्सा अधिकारियों एवं स्वास्थ्यकर्मियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। 
         नगरीय पीएचसी राजघाट एवं पाण्डेयपुर में मेले के उदघाटन के समय मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ वीबी सिंह मौजूद रहे। वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में स्थानीय जन प्रतिनिधियों द्वारा मेले का उद्घाटन किया गया। रविवार को जिले के समस्त शहरी एवं ग्रामीण प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर विशेषज्ञ चिकित्सकों के द्वारा स्वास्थ्य की मुफ्त जांच हुई तथा उपचार, परामर्श के साथ निःशुल्क दवाएं भी वितरित की गईं। राजघाट पीएचसी में मेले के दौरान मंत्री डॉ नीलकंठ तिवारी ने कहा कि सरकार गरीबों के लिये बहुत सी जन कल्याणकारी योजनाएं चला रही है। मुख्यमंत्री की पहल से गरीब किसानों, महिलाओं, बच्चों को छुट्टी के दिन घर के नजदीक आरोग्य मेले के माध्यम से निःशुल्क स्वास्थ्य लाभ देने की योजना बनाई गई है। इसका उद्देश्य गरीबों का इलाज उनके निवास के करीब मिले जिससे उनके समय और आने जाने में होने वाले खर्च से बचत हो सके। मंत्री रविंद्र जायसवाल ने पाण्डेयपुर पीएचसी मेले का उद्घाटन करते हुये कहा कि सरकार निरंतर प्रयासरत है कि स्वास्थ्य विभाग महिलाओं एवं बच्चों से जुड़े हुए मुद्दों पर सजगता पूर्वक सेवाएं प्रदान करें। उन्होने कहा कि महिलाओं को स्वस्थ रखना सरकार की प्राथमिकता है इसके लिए सरकार लगातार प्रयासरत है। महिलाओं को दृष्टिगत रखते हुए लगातार स्वास्थ्य सेवाओं में विस्तार किया जा रहा है। हर जिले में नए मैटरनिटी विंग स्थापित किया जा रहे हैं। 102 एंबुलेंस सेवा में विस्तार किया जा रहा है। मेले में कुल 3115 लोगों की स्वास्थ्य जांच की गई। जिसमें 1010 पुरुषों, 1596 महिलाओं और 509 बच्चों को देखा गया। इस दौरान कोविड हेल्प डेस्क पर 1226 व्यक्तियों की स्क्रीनिंग की गईं, जिसमें 552 व्यक्तियों का एंटीजन किट से कोरोना टेस्ट किया गया। जिसमें सभी व्यक्ति निगेटिव पाये गए। इसके अलावा 189 मरीज श्वसन, 61 लिवर, 256 उदर, 195 मधुमेह, 515 त्वचा संबन्धित मरीज, 18 टीबी संभावित मरीज, 95 एनीमिक, 159 हाईपेर्टेंशन, 3 कैंसर, 210 महिलाओं की एएनसी जांच, 1027 अन्य रोगों के मरीज देखे गए। इसके अलावा 26 मरीजों को जनरल सर्जरी एवं 2 मरीजों को आँख की सर्जरी के लिए चिन्हित किया गया। वहीं 59 मरीजों को संदर्भित किया गया। इन स्वास्थ्य मेलों में आयुष्मान भारत योजना के स्टॉल लगा कर करीब 106 लाभार्थियों के गोल्डेन कार्ड भी बनाए गए। इन मेलों में जनता का काफी उत्साह दिखाई दे रहा है और लोग बढ़-चढ़ कर स्वास्थ्य सुविधा का लाभ उठा रहे हैं। नोडल अधिकारी, अपर मुख्य चिकित्सा  अधिकारी, उप मुख्य चिकित्साधिकारी, जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी, समस्त ब्लॉकों के प्रभारी चिकित्साधिकारी, चिकित्सक, एआरओ, स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी, बीसीपीएम, बीपीएम, परामर्शदाता, लैब टैकनीशियन, एएनएम, आशा, स्वास्थ्य कार्यकर्ता समेत स्वास्थ्य विभाग के अन्य लोग मौजूद रहे। मेले में बुखार समेत मौसमी बीमारियों की जांच, कोरोना की जाँच, गर्भवती व बच्चों का  टीकाकरण, निःशुल्क दवा और सभी पैथालॉजी की जांच, निःशुल्क सैनेटरी नैपकीन वितरण, महिला एवं पुरुष नसबंदी के लिए पंजीकरण, आंखों की निःशुल्क जांच, क्षय रोग की जांच व परिवार नियोजन के अस्थायी साधन का निःशुल्क वितरण करने के साथ ही आयुष्मान का गोल्डेन कार्ड बनाया गया। आरोग्य मेला में चिकित्सा व उपचार के अलावा संदर्भन की सुविधा, गर्भावस्था, प्रसव कालीन व जन्म पंजीकरण का परामर्श, बच्चों में डायरिया, निमोनिया रोकने के लिए परामर्श सुविधा, मलेरिया, डेंगू, फाइलेरिया व कुष्ठ की स्क्रीनिंग, बीपी, शुगर, मुख, स्तन एवं सर्वाइकल कैंसर की स्क्रीनिंग, तंबाकू और मद्यपान छोड़ने के लिए परामर्श की भी सुविधाएं मौजूद रहे।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।