किसान आन्दोलन के कारण रेलवे प्रशासन द्वारा गाड़ियों का निरस्तीकरण एवं मार्ग परिवर्तन - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Tuesday, 23 February 2021

किसान आन्दोलन के कारण रेलवे प्रशासन द्वारा गाड़ियों का निरस्तीकरण एवं मार्ग परिवर्तन

कैलाश सिंह विकास वाराणसी

किसान आन्दोलन के कारण रेलवे प्रशासन द्वारा गाड़ियों का निरस्तीकरण एवं मार्ग परिवर्तन


  वाराणसी 23 फरवरी, 2021: पंजाब में चल रहे किसान आन्दोलन के कारण रेलवे प्रशासन द्वारा गाड़ियों का निरस्तीकरण एवं मार्ग परिवर्तन निम्नवत् किया जायेगा।
निरस्तीकरण-
- दरभंगा से 24 फरवरी, 2021 को चलने वाली 05211 दरभंगा-अमृतसर विशेष गाड़ी निरस्त रहेगी। 
- अमृतसर से 26 फरवरी, 2021 को चलने वाली 05212 अमृतसर-दरभंगा विशेष गाड़ी निरस्त रहेगी। 
मार्ग परिवर्तन-
- अमृतसर से 24 फरवरी, 2021 को चलने वाली 04650 अमृतसर-जयनगर विशेष गाड़ी निर्धारित मार्ग अमृतसर-जन्डियाला-ब्यास के स्थान पर परिवर्तित मार्ग अमृतसर-तरनतारन-ब्यास के रास्ते चलायी जायेगी।
- जयनगर से 24 फरवरी, 2021 को चलने वाली 04673 जयनगर-अमृतसर विशेष गाड़ी निर्धारित मार्ग ब्यास-जन्डियाला-अमृतसर के स्थान पर परिवर्तित मार्ग ब्यास-तरनतारन-अमृतसर के रास्ते चलायी जायेगी।
- अमृतसर से 24 फरवरी, 2021 को चलने वाली 04652 अमृतसर-जयनगर विशेष गाड़ी निर्धारित मार्ग अमृतसर-जन्डियाला-व्यास के स्थान पर परिवर्तित मार्ग अमृतसर-तरनतारन-व्यास के रास्ते चलायी जायेगी।
- न्यू जलपाई गुड़ी से 24 फरवरी, 2021 को चलने वाली 02407 न्यू जलपाई गुड़ी-अमृतसर विशेष गाड़ी निर्धारित मार्ग ब्यास-जन्डियाला-अमृतसर के स्थान पर परिवर्तित मार्ग ब्यास-तरनतारन-अमृतसर के रास्ते चलायी जायेगी।
- अमृतसर से 24 फरवरी, 2021 को चलने वाली 04654 अमृतसर-न्यू जलपाईगुड़ी विशेष गाड़ी निर्धारित मार्ग अमृतसर-जन्डियाला-ब्यास के स्थान पर परिवर्तित मार्ग अमृतसर-तरनतारन-ब्यास के रास्ते चलायी जायेगी।
                                                

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।