कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सभी स्वास्थ्य सेवायें रहे दुरस्त: डीएम - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Saturday, 17 April 2021

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सभी स्वास्थ्य सेवायें रहे दुरस्त: डीएम

ब्यूरो कानपुर देहात:अरविन्द शर्मा

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सभी स्वास्थ्य सेवायें रहे दुरस्त: डीएम

कानपुर देहात।जिलाधिकारी जितेन्द्र प्रताप सिंह ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण दृष्टिगत व गोल्डन कार्ड की स्वास्थ्य विभाग के साथ समीक्षा की। उक्त बैठक में जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित किया कि कोरोना वायरस बढ़ते रूख को देखते हुए सभी स्वास्थ्य सेवायें दुरस्त रहे तथा चिकित्सक समय से अस्पतालोें में उपस्थित रहे व दवा आदि की पर्याप्त मात्रा में सीएमची, पीएचसी तथा जिला अस्पताल में उपलब्ध रहे। 
उन्होंने कहा कि मरीजों को किसी भी प्रकार की कोई समस्या न हो इसके लिए पहले से ही व्यवस्थाओं हेतु प्रबन्ध कर ले। उन्होंने कहा कि कोराना के बढ़ रहे मरीजों के चलते कोविड एल-1 व एल-2 अस्पताल में सभी व्यवस्थायें ठीक प्रकार से व्यवस्थित कर ले। उन्होंने कहा कि कोविड-19 वैक्सीनेशन ज्यादा से ज्यादा केन्द्रों पर किया जाये तथा 45 वर्ष के ऊपर के व्यक्तियों को लगवाने हेतु प्रेरित करे। निगरानी समितियां बाहर से आ रहे लोगों पर नजर रखे तथा उनका कोरोना कोरोना टेस्ट अवश्य किया जाये, कोरोना पाॅजिटिव मरीजों के कान्टेªक्ट टेªसिंग शत प्रतिशत की जाये तथा होमआइसोलेश मरीजों का हालचाल समय समय पर लेते रहे तथा दवा आदि भी उन्हें उपलब्ध करायी जाये। उन्होंने गोल्डन कार्ड बनाये जाने की प्रगति की समीक्षा करते हुए कहा कि गोल्डन कार्ड बनाने में प्रगति लाये तथा किसी प्रकार की कोई लापरवाही न की जाये। इस मौके पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन पंकज वर्मा, सीएमओ डा0 राजेश कटियार, अपर सीएमओ डा0 बीपी सिंह, जिला सूचना अधिकारी नरेन्द्र मोहन आदि उपस्थित रहे।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।