सीडीओ ने जूम मीटिंग के माध्यम से आरओ व एआरओ के भ्रम का किया निवारण - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Saturday, 17 April 2021

सीडीओ ने जूम मीटिंग के माध्यम से आरओ व एआरओ के भ्रम का किया निवारण

ब्यूरो कानपुर देहात:अरविन्द शर्मा

सीडीओ ने जूम मीटिंग के माध्यम से आरओ व एआरओ के भ्रम का किया निवारण

कानपुर देहात।मुख्य विकस अधिकारी सौम्या पाण्डेय की अध्यक्षता में जिला विकास अधिकारी व जिला पंचायत राज अधिकारी ने प्रातः जूम मीटिंग कर मतदान से सम्बन्धित जो भी अस्पष्टता या भ्रम की स्थितियां आरो या एआरओ के सामने उत्पन्न हो रही थी उनका निवारण किया। सभी निर्वाचन अधिकारी व सहायक निर्वाचन अधिकारी को नाम निर्देशन पत्रों की स्क्रूटनी या समीक्षा कैसे की जाती है उसको दोबारा जिला विकास अधिकारी व जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा स्पष्ट किया गया। आरओ झींझक, जीएमडीआईसी और आरओ अकबरपुर ने कई प्रश्न उठाये और उनके प्रश्नों का सम्बन्धित अधिकारियों द्वारा समाधान किया गया।
जीएमडीआईसी के इस प्रश्न का कि कोई सहकारी समिति का उपाध्यक्ष क्या चुनाव लड़ सकता है? इस प्रश्न के उत्तर में जिला पंचायत राज अधिकारी ने कहा कि कोई भी सहकारी समिति का अध्यक्ष व उपाध्यक्ष चुनाव नही लड़ सकता है, क्योकि वह सहकारी समिति के नियमों से बंधा होता है। अन्त में मुख्य विकास अधिकारी ने सभी आरओ व एआरओं को धन्यवाद देते हुए कहा कि व्यस्तता के बावजूद उन्होंने इस जूम मीटिंग में अपनी उपस्थिति दर्ज करायी और अपने भ्रम का निवारण किया। उन्होंने विशेष रूप से इस मौके पर जिला विकास अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी व बेसिक शिक्षा अधिकारी को ध्यन्यवाद दिया जिन्होंने सभी आरओ व एआरओ मन में उत्पन्न हो रहे भ्रम का निवारण सहजता व सरलता से किया, साथ ही उन्होंने कहा कि अगर किसी प्रकार का कोई भ्रम निर्वाचन से सम्बन्धित आपके मन में उत्पन्न होता है तो उसका निवारण सम्बन्धित अधिकारियों से वाट्सएप के माध्यम से तुरन्त करा ले।  

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।