रेडक्रॉस सोसाइटी ने लगवाये 4 सिंगल बॉडी मॉर्चरी फ्रीजर बॉक्स - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Saturday, 29 May 2021

रेडक्रॉस सोसाइटी ने लगवाये 4 सिंगल बॉडी मॉर्चरी फ्रीजर बॉक्स

कैलाश सिंह विकास वाराणसी

रेडक्रॉस सोसाइटी ने लगवाये 4 सिंगल बॉडी मॉर्चरी फ्रीजर बॉक्स

वाराणसी। शुक्रवार को रेडक्रॉस सोसाइटी, वाराणसी ने  एसएसपीजी हॉस्पिटल को 4 डेड बॉडी मॉर्चरी फ्रीजर बॉक्स प्रदत्त किया।
मण्डलायुक्त  दीपक अग्रवाल व जिलाधिकारी  कौशल राज शर्मा ने एसएसपीजी हॉस्पिटल के एसआईसी डॉ प्रसन्न कुमार को आधिकारिक रूप से साढ़े छः लाख रुपये लागत के सभी 4 सिंगल बॉडी मॉर्चरी फ्रीजर बॉक्स को रेडक्रॉस सोसाइटी की तरफ सौपा। ज्ञात हो कुछ महीने पूर्व एसएसपीजी हॉस्पिटल के निरिक्षण के दौरान मण्डलायुक्त ने पाया कि हॉस्पिटल के शवदाह गृह में डेड बॉडी के रखरखाव में दिक्कतें आ रही है। तभी उन्होंने घोषणा की थी कि जल्द ही डेड बॉडी के बेहतर रखरखाव हेतु रेडक्रॉस सोसाइटी के माध्यम से 4 मॉर्चरी फ्रीजर बॉक्स उपलब्ध कराया जाएगा। वाराणसी ही नही अपितु पूरे पूर्वांचल के लोगों के लिए यह सुविधा निःशुल्क उपलब्ध होगी। उक्त सभी मॉर्चरी फ्रीजर बॉक्स में अलग अलग 4 डेड बॉडी रखने की सुविधा होगी, जिसमें डेड बॉडी आवश्यकतानुसार 2 से 5 डिग्री तापमान पर रखा जा सकता है। लम्बे समय तक जरूरत पड़ने पर मॉर्चरी बॉक्स का तापमान माइनस 20 डिग्री तक हो सकता है।
 जिलाधिकारी  कौशल राज शर्मा ने कहा कि रेडक्रॉस सोसाइटी की तरफ से कोविड के संक्रमण काल में कोविड मरीजों व आमजन हेतु बहुत तरह की सुविधा व मदद दी जा रही है। इस हॉस्पिटल के लिए जरूरत पड़ने पर आमजन के मदद हेतु जल्द ही कई और सामग्री रेडक्रॉस की तरफ से उपलब्ध कराई जाएगी।
इस अवसर पर मण्डलायुक्त  दीपक अग्रवाल, जिलाधिकारी  कौशल राज शर्मा, एसआइसी डॉ प्रसन्न कुमार, रेडक्रॉस सचिव डॉ संजय राय, विजय शाह, डॉ एसएस गांगुली, वेदमूर्ति शास्त्री सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।