सड़क दुर्घटना में घायल मां की एक वर्ष के मासूम को संभालते दिखी पुलिस - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Thursday, 10 June 2021

सड़क दुर्घटना में घायल मां की एक वर्ष के मासूम को संभालते दिखी पुलिस

मोहित गुप्ता बस्ती रूधौली

सड़क दुर्घटना में घायल मां की एक वर्ष के मासूम को संभालते दिखी पुलिस

बस्ती रुधौली: बुधवार को क्षेत्र के कुड़ी चौराहे के पास एक गिट्टी लदे ट्रक से दुर्घटनाग्रस्त होकर एक महिला बाल बाल बच गई। हालांकि महिला के पैर में गंभीर चोट आई लेकिन उसका पति एवं एक वर्ष की मासूम पूरी तरह सुरक्षित बच गए। घटना के बीच पुलिस का एक मानवीय चेहरा भी दिखा जब घायल दंपत्ति के साथ मौजूद एक वर्ष की मासूम बेटी को एक पुलिसकर्मी घटनास्थल से थोड़ी दूरी पर ले जाकर संभालते हुआ दिखा।
      बताते चले कि संत कबीर नगर जनपद की नंदौर निवासिनी रेखा अपने पति राजकुमार व एक वर्ष की पुत्री अंतिमा के साथ रुधौली थाना क्षेत्र के मझारी में अपने रिश्तेदार के घर जा रही थी। अभी वह रुधौली के कुड़ी चौराहे के पास पहुंची ही थी कि एक गिट्टी लदी ट्रक से उसकी मोटरसाइकिल दुर्घटनाग्रस्त हो गई। घटना में रेखा के पति व बच्ची को तो हल्की चोट आई लेकिन रेखा के पैर में गंभीर चोट आने से वह गंभीर रूप से घायल हो गए।
       112 कीसूचना पर पहुंची पुलिस पीआरबी ने घायल महिला समेत उसके पति व बच्चे को बैठाकर सीएचसी रुधौली के तरफ ले जाने लगी कि इसी बीच रास्ते में सूचना पाकर घटनास्थल की तरफ जा रही एंबुलेंस मिल गई और पी आर वी 0847 पर मौजूद पुलिसकर्मी ज्ञानेंद्र नाथ राय, सच्चिदानंद यादव व कृष्ण मोहन सिंह ने घायल महिला वह उसके पति और बच्चे को एंबुलेंस में बैठा कर अस्पताल भेजा। इस दौरान घायल महिला की एक वर्षीय पुत्री अंतिमा को पीआरवी चालक कृष्ण मोहन सिंह ना सिर्फ गोद में उठाकर संभालते हुए देखे बल्कि उसे चुप कराने की हर संभव कोशिश भी करते नजर आए, मौजूद लोगों ने पुलिस के इस चेहरे की खूब सराहना की।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।