कानपुर-बेटियों ने भी तर्पण कर बदली समाज की सोच - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Sunday, 30 September 2018

कानपुर-बेटियों ने भी तर्पण कर बदली समाज की सोच





ब्यूरो कानपुर-रवि गुप्ता

21 वीं सदी में जहां बेटिया कंधे से कंधा मिलाकर आगे बढ़ रही है तो वहीं अब बेटियां धार्मिक अनुष्ठानों में भी पुरुषों से कहीं पीछे नही है जिसका जीता जागता उदाहरण कानपुर में हो रहे युग दधीचि संस्थान के युग दधीचि बेटी बचाओ अभियान के द्वारा सरसैया घाट पर महातर्पण का आयोजन किया गया इस महातर्पण में भारत के पूर्व प्रधानमंत्री व भारत रत्न स्वर्गीय अटल बिहारी बाजपेई की पौत्री नन्दिता ने अपने नाना अटल जी की आत्मा की शांति के लिए विधिवत पूजन कर तर्पण किया। 


साथ ही समाज की कुरीतियों की परवाह किये बगैर बेटियों ने अपने तर्पण के अधिकार का प्रयोग करते हुए अपने पूर्वजों व दिवंगत देहदानियो और अमर शहीदों के लिए पिण्डदान और तर्पण किया।

युग दधीचि देह संस्थान आज की भारतीय महिलाओ को पुरुषों के साथ साथ महिलाओं को भी धार्मिक अनुष्ठानों में बराबर का भागीदार बनाने का प्रयास कर रहा है।


अटल जी की पौत्री नन्दिता मिश्रा ने कहा कि खुशी तो नही हो रही है लेकिन एक बेटी का फर्ज भी जरूरी है हमने विधिवत तर्पण और पूजन कर नाना जी की आत्मा की शांति की प्रार्थना की है।कानपुर की समन्वय सेवा समिति के अध्यक्ष मनोज सेंगर जो की इस समिति के अध्यक्ष है और पिछले कई वर्षो पितृ पक्ष के दौरान सेकड़ो महिलाओ को इकट्ठा कर इन्ही महिलाओ के हाथो अजन्मी लड़कियों और इनके पूर्वजो को इनके हाथो से तर्पण का कार्यक्रम सम्पन्न कराते चले आ रहे है इनका कहना है यह तर्पण के अधिकार केवल पुरुषो को ही नहीं बल्कि महिलाओ को भी देना चाहिए क्योकि बेटिया भी आज के समय में बेटो से कम नहीं और देश रोजाना कितनी बेटियो को लड़को की चाह की वजह से आज भी उन्हें जन्म के पहले ही मार दिया जाता है तो उनके तर्पण का अधिकार भी इन्ही बेटियॉ और महिलाओ को है।



आज इस महिलाओ के तर्पण में देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपाई की पौत्री नंदिता मिश्रा ने भी अपने अपने नाना को तर्पण कर उसकी आत्मशांति की प्राथना की।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।