गाँवो में चकरोड अतिक्रमण मुक्त रहना चाहिए - कमिश्नर - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Tuesday, 27 August 2019

गाँवो में चकरोड अतिक्रमण मुक्त रहना चाहिए - कमिश्नर


ब्यूरो कैलाश सिंह विकाश 

          कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने आयुक्त सभागार में मंगलवार को मंडल के मुख्य राजस्व अधिकारियों की बैठक कर विभिन्न विकास कार्यों के लिए भूमि की उपलब्धता की प्रगति, सरकारी जमीनों को अवैध कब्जा मुक्त रखने, शिकायतो/समस्याओं के प्रभावी निस्तारण के निर्देश दिए।

         कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने कहा कि चकरोड हर हाल में अतिक्रमण मुक्त रहें। ग्राम सभा की जमीन पर अवैध कब्जा नहीं होना चाहिए। अवैध कब्जा मुक्त के जो कार्य हो उसके फोटोग्राफी करा दी जाए। ताकि यदि कोई व्यक्ति दोबारा अतिक्रमण का दुस्साहस करें तो उसके विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की जाए। धारा 41 व धारा 24 के अनुपालन तत्परता से सुनिश्चित हो।

 विभिन्न माध्यमों यथा- तहसील दिवस, प्रतिदिन कार्यालयों में होने वाले जन सुनवाई के दौरान, शासन से प्राप्त, विभिन्न जनप्रतिनिधियों से प्राप्त शिकायतों/समस्याओं का गुणवत्ता से समाधान करें। ताकि वही शिकायत रिपीट नहीं हो। माननीय मंत्रियों, सांसदों, विधायकों के माध्यम से प्राप्त पत्रों पर कृतकार्यवाही से संबंधित जनप्रतिनिधियों को भी अवगत कराया जाए। अविवादित वरासत का कोई मामला पूरे मंडल में लंबित नहीं रहना चाहिए। राजस्व अधिकारी सुनिश्चित करें कि जिन मामलों में कानूनगो- लेखपालो से रिपोर्ट/आख्या मांगी जाती है, वह समय सीमा में प्राप्त हो और उस पर वांछित कार्यवाही भी हो। अपर जिलाधिकारी, उप जिलाधिकारी, तहसीलदार स्तर पर शिकायतों/ समस्याओं के निस्तारण का पर्यवेक्षण सघनता से हो। शिकायतकर्ता से फोन कर निस्तारण की जानकारी ले, ताकि वास्तविकता पता चले। यदि किसी भी स्तर पर फर्जी या गोलमोल-ढुलमुल निस्तारण किया जाना पाया जाता है तो संबंधों के विरुद्ध कार्यवाही करें। शिकायतों के निस्तारण में विलंब किसी भी दशा में बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।