गर्मी में पशु पक्षियों के लिए दाना पानी रख कर जन्तुओं का संरक्षण देना भी है पुनीत कार्य है - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Friday, 17 April 2020

गर्मी में पशु पक्षियों के लिए दाना पानी रख कर जन्तुओं का संरक्षण देना भी है पुनीत कार्य है


ब्यूरो कानपुर देहात:अरविन्द शर्मा


कानपुर देहात।वर्ग संघर्ष में सर्वोत्तम ही जीवित रहता है,सारी जमीन मानव ने आपने नाम पर लिखाली तथा अत्याधुनिक थ्रेसर से एक एक दाना घर में रख लिया जो ईश्वर के यहाँ से अपना हिस्सा लिखा कर लाए प्रकृति के अन्य हिस्सेदार जीव जन्तुओं के साथ अन्याय जैसा प्रतीक होता है।उक्त बातें पर्यावरण मित्र नवीन कुमार दीक्षित ने पक्षियों के प्रति अपनी पर्यावरण संरक्षण की जिम्मेदारी निभाते हुए कही।
पृथ्वी गृह का सबसे बड़ा धर्म प्रकृति धर्म ही है प्रकृति से खिलवाड़ करनेवाले जहाँ प्रकृति के प्रकोप से अपने घरों में रहने को विवश हैं वहीं पशु पक्षी सड़कों और मानव के आवासीय क्षेत्रों में भोजन पानी की तलाश में भटक रहे हैं। उन्हें क्या पता कि धरती के जिन स्वयं भू बुद्धिमान प्राणियों से वह पानी की उम्मीद लगाकर बस्ती के पास आए हैं उन्होंने ही ग्लोबल वार्मिंग बढ़ाकर जल का वाष्पीकरण कर दिया और अतिक्रमण करके जलाशयों का सत्यानाश कर दिया है और नजदीक जाने पर शिकार कर लेने से भी नहीं चूकेंगे।
  अभी भी समय है कि हम अपनी पर्यावरण संरक्षण की संवैधानिक जिम्मेदारी निभाते हुए विलुप्त होते जीवों के साथ अपनत्व का व्यवहार करें। सत्तर प्रतिशत तक जीव जन्तु विलुप्त हो चुके हैं दुआ करनेवाले मुँह से सहयोग करनेवाले हाँथ अधिक पवित्र होते हैं।इसलिए प्रकृति और जीवों से खिलवाड़ न करें।वट नीम पीपल तुलसी आदि का रोपण करके प्रकृति का संरक्षण करें।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।