छात्र ने तैयार किया बैंड, भीड़ में भी कोरोना संक्रमण से करेगा बचाव - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Sunday, 19 April 2020

छात्र ने तैयार किया बैंड, भीड़ में भी कोरोना संक्रमण से करेगा बचाव



संवाददाता:अरविन्द शर्मा

सोशल डिस्टेंस का पालन कराने के लिए छात्र ने तैयार किया बैंड, भीड़ में भी कोरोना संक्रमण से करेगा बचाव



कानपुर देहात-विश्व भर में फैली महामारी कोरोना से बचने के लिए तरह तरह के उपाय बताए जा रहे हैं, लेकिन लोग उनकी अनदेखी कर जाते हैं और वायरस के शिकार हो जाते हैं। लोगों को बार बार समझाया जा रहा है कि घर में या बाहर रहने पर कम से कम 1 मीटर की दूरी बनाकर रखें। जिससे सोशल डिस्टनसिंग का पालन हो सके लेकिन कई लोग इसका पालन नही कर रहे हैं। इससे संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। ऐसे में कई लोग व्यस्तता एक मीटर की दूरी का दायरा भूल जाते हैं। इसके लिए कानपुर देहात के पुखरायां कस्बा निवासी पार्थ ने सोशल डिस्टेंस को कायम रखने वाला हैंड बैंड बनाया है। उन्होंने 2 अल्ट्रासोनिक सेंसर, ट्रांजिस्टर, स्विच, स्पीकर व अन्य कलपुर्जे लगाकर ऐसा बैंड तैयार किया है कि इसे आसानी से हाथों में पहन सकते हैं। इस दौरान जब कोई आपके समीप आएगा या आप उसके समीप जाएंगे तो एक मीटर से कम दूरी होने पर सेंसर अपना काम करेगा और अलार्म बजने लगेगा, जिससे आपको पता चल सकेगा कि सोशल डिस्टेंस का पालन नहीं हो रहा है।

इस तरह ये बैंड करता है काम

पार्थ ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान लोग आवश्यक कार्यों से बाहर जाते हैं या कोई घर में आता है तो यह उपकरण आपको संक्रमण से सुरक्षित रख सकेगा। उन्होंने कहा कोई भी इंसान या यहां तक जानवर भी एक मीटर का दायरा काम करके आपके समीप पहुंचता है तो इसका सायरन आपको अलर्ट करेगा। आपको बता दें कि इससे पहले भी पार्थ ने पार्किसंस के मरीजों के लिए लेकर स्टिक बनाई थी। जिससे पार्किंसंस के मरीजों को राहत मिलती है। इस बाल आविष्कार के लिए पार्थ को तत्कालीन राष्ट्रपति से पुरस्कार मिला था। जिसके बाद वर्तमान राष्ट्रपति ने 26 जनवरी 2020 को दिल्ली बुलाकर पुरस्कार दिया है।

पार्थ के पिता ने बताई ख़ास बात

उनके पिता संदीप बंसल ने बताया कि पार्थ वर्तमान में इंदिरापुरम ग़ाज़ियाबाद में रहकर पढ़ाई कर रहे हैं। लॉकडाउन में समय बिता रहे पार्थ ने हांथ मे पहनने वाला बैंड बनाया है, जिसमे सेंसर लगा है और इसको इस तरह से कंप्यूटर द्वारा प्रोग्राम किया है। जब इसको पहनने वाले के पास जब कोई अन्य व्यक्ति एक मीटर से कम दूरी पर आ जाता है तो अलार्म बज जाता है जिससे वो व्यक्ति और आसपास के लोगों को भी संदेश जाता है कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए एक निश्चित दूरी बना कर रखी जाए। फिलहाल अभी पार्थ एक तरह का छातानुमा फुल बॉडी सेनेटाइजर उपकरण बनाने में लगे हैं, जिससे घर या अपार्टमेंट के मेन दरवाजे पर लगाया जा सकता है और कोई भी बाहरी व्यक्ति जब प्रवेश करे तो स्वतः छाते से स्प्रे रूप में सेनेटाइजर पूरे शरीर मे गिरकर उस व्यक्ति को संक्रमण मुक्त कर देगा।




No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।