अंर्तराष्ट्रीय ग्रेपलिंग खिलाड़ी माया कोरी के दोनों बेटों ने कोरोना पर बनाया पोस्टर - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Friday, 17 April 2020

अंर्तराष्ट्रीय ग्रेपलिंग खिलाड़ी माया कोरी के दोनों बेटों ने कोरोना पर बनाया पोस्टर

ब्यूरो कानपुर देहात: अरविन्द शर्मा

अंर्तराष्ट्रीय ग्रेपलिंग खिलाड़ी माया कोरी के दोनों बेटों ने कोरोना पर बनाया पोस्टर

झींझक कानपुर देहात। कस्बा झींझक में शुक्रवार को अंतरराष्ट्रीय ग्रेपलिंग रजत पदक  विजेता माया कोरी  व उनके दोनों बेटे पीयूष चंद्रा व रिषी चंद्रा द्वारा कोरोना वायरस महामारी के चलते पोस्टर के माध्यम से लोगों को जागरूक करने का काम कर रहे हैं। खम्हैला निवासी माया कोरी व उनके दोनों पुत्र पीयूष चंद्रा व रिषी चंद्रा लॉक डाउन के समय यह दोनों भाई पोस्टर के माध्यम से गांव शहर कस्बों के लोगो को जागरूप करने का काम कर रहे है। जैसा कि देखने को मिल रहा है कि शहर और कस्बा में लोग पुलिस की गाड़ी की आवाज सुनकर घर में घुस जाते हैं और गाड़ी जाने के बाद फिर  घर के बाहर कुर्सी डालकर आपस में बातचीत करते हैं।  शायद इन लोगों को ऐसा लगता है की पुलिस उनको डराने के लिए ऐसा कार्य कर रही है पर सच्चाई यह है कि कोरोना वायरस महामारी से अपने आप को बचाने के लिए लोगों को पुलिस के डर से नहीं स्वयं अपनी सुरक्षा के लिए घरों में रहने की जरूरत है दोनों बच्चों ने इस पेंटिंग के माध्यम से ऐसे लोगों को जागरुक करने का कार्य किया है जो पुलिस के साथ लुक्का छिपी का खेल खेल रहे हैं। लोगों को इस महामारी के बारे में जानकारी  माया कोरी ने दी जो  ऐच्छिक ब्यूरो की सदस्य भी हैं वह लगातार लोगों के बीच जाकर उन्हें इस विषम परिस्थिति में लोगों को घरों में रहने की सलाह दे रही हैं उनके साथ उनके बच्चे भी समाज सेवा में अपना पूरा समय घर में रहकर पेंटिंग कर बिता रहे हैं। माया कोरी ने सभी क्षेत्रवासियों से घरों में रहने की अपील की उन्होंने कहा कि इस महामारी से बचने के लिए हम सभी को अपने घरों में रहना है तभी हम इस कोरोना महामारी को हरा सकेंगे। ऐच्छिक ब्यूरो सदस्य माया कोरी ने समस्त देशवासियों से अपील की कि वह घर पर रहें समय-समय पर हाथों को धोएं वह घर से बाहर निकलने पर चेहरे को माक्स से ढक कर  रखें इन सभी कार्यों के द्वारा हम सब भारत को कोरोना मुक्त भारत  बना पायेंगे।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।