वाराणसी : जिलाधिकारी ने अवरुद्ध विकास कार्यों को गति देने के लिए अधिकारियों संग की बैठक - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Wednesday, 13 May 2020

वाराणसी : जिलाधिकारी ने अवरुद्ध विकास कार्यों को गति देने के लिए अधिकारियों संग की बैठक

कैलाश सिंह विकास

जिलाधिकारी ने अवरुद्ध विकास कार्यों को गति देने के लिए अधिकारियों संग की बैठक

अवरुद्ध निर्माण कार्य को पुनः चालू करने तथा रोजगार के अवसर मजदूरों एवं प्रवासी मजदूरों को उपलब्ध कराने की दिशा में तेजी से कार्य करने पर दिया जोर

निर्माण कार्यवार कितने श्रमिक लगे हैं तथा उनमें से प्रवासी श्रमिकों की कितनी संख्या है इसका विवरण समस्त विभागीय अधिकारियों से जिलाधिकारी ने किया तलब

जनपद में आये हुए समस्त प्रवासी 21 दिन तक होम कोरेंटाइन करेंगे तथा किसी भी परिस्थिति में घर से बाहर नहीं निकलेंगे-जिलाधिकारी

यदि कोई भी प्रवासी होम कोरेंटाइन पूर्ण किये बिना बाहर घूमता हुआ पाया जाता है तो उसके विरूद्ध ग्राम विकास अधिकारी/ग्राम पंचायत अधिकारी द्वारा एफआईआर दर्ज करायी जाय- कौशल राज शर्मा


          जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बुधवार को कैंप कार्यालय सभागार में विकास कार्यों को गति देने के लिए सभी संबंधित विभागों के साथ आवश्यक बैठक की। उन्होंने कोविड-19 महामारी के कारण आर्थिक गतिविधियों एवं विकास की गति को विराम लग जाने के पश्चात उसे पुनः चालू करने तथा रोजगार के अवसर मजदूरों एवं प्रवासी मजदूरों को उपलब्ध कराने की दिशा में तेजी से कार्य प्रारम्भ करने पर जोर दिया। जिससे श्रमिकों को विशेष रूप से काम के अवसर मिलने पर उनको आर्थिक तंगी का सामना नहीं करना पड़ेगा और वे अपना जीवनयापन सामान्य रूप से कर सकेंगे। 
       जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने कहा कि विभागीय कार्यों को तेजी से प्रारम्भ कराने के लिए अधिकारी अपने-अपने विभाग से संबंधित कार्य तत्काल प्रारम्भ करायें। ग्रामीण क्षेत्रों में शौचालय निर्माण, आवास निर्माण, गोवंश आश्रय स्थल एवं आंगनबाडी केन्द्रो के निर्माण तथा मनरेगा से कराये जा रहे कार्यों की समीक्षा की तथा किस कार्य पर कितने श्रमिक लगे हैं तथा उनमें से प्रवासी श्रमिकों की कितनी संख्या है इसका विवरण भी समस्त विभागीय अधिकारियों से तलब किया। उन्होंने शौचालय निर्माण के संबंध में जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देशित किया कि अवशेष शौचालयों को निर्माण तत्काल शुरू किया जाय तथा जो अधूरे पड़े 32921 शौचालयों का कार्य भी इस माह तक पूर्ण करायें। शौचालय निर्माण में एमआईएस की गलत फीडिंग करने वालों की सूची तलब की तथा उनके विरूद्ध कार्यवाही किये जाने का निर्देश दिया। मनरेगा कार्यों की समीक्षा के दौरान पूर्व से चल रहे 800 तालाबों के खुदाई का कार्य पूरा कराने के लिए उपायुक्त मनरेगा को निर्देश दिया कि जिन 90 ग्राम पंचायतों में कार्य अभी तक प्रारम्भ नहीं किये गये हैं, उनमें तत्काल कार्य प्रारम्भ करायें तथा प्रत्येक ग्राम पंचायतों में कम से कम 2 से तीन कार्य एक समय में कराये जायें जिससे ंअधिक से अधिक श्रमिकों को रोजगार प्राप्त हो सके। विकास खण्ड पिण्डरा में स्थित 3-4 झीलों का सर्वे करा लें जिससे जल संरक्षण का कार्य प्रारम्भ कराया जा सके। ग्राम पंचायतों में आंगनबाडी केन्द्रों के निर्माण की समीक्षा करते हुए कहा कि श्रमिकों की संख्या बढाते हुए इसका कार्य 15 जून से पूर्व पूर्ण करायें। उन्होंने निर्देशित किया कि जिले में गौशालाओं के निर्माण की गति बढाकर 15 दिन में अवशेष कार्य पूर्ण कराकर गोवंशों को उनमें पहुॅचा दिया जाय। उन्होंने कहा कि हाइवे, ग्राम पंचायतों में तथा सड़कों पर खुले में घूमते हुए कोई भी गोवंश न दिखायी दे। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया कि गोवंश के चारे की समुचित व्यवस्था पूर्व में ही कर ली जाय।
        जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने कडे़ निर्देश देते हुए कहा कि जनपद में आये हुए समस्त प्रवासी 21 दिन तक होम कोरेंटाइन करेंगे तथा किसी भी परिस्थिति में घर से बाहर नहीं निकलेंगे । यदि कोई भी प्रवासी होम कोरेंटाइन पूर्ण किये बिना बाहर घूमता हुआ पाया जाता है तो उसके विरूद्ध ग्राम विकास अधिकारी/ग्राम पंचायत अधिकारी द्वारा एफआईआर दर्ज करायी जायेगी। उन्होंने ब्लाक स्तर पर खण्ड विकास अधिकारी, ग्राम स्तर पर ग्राम विकास अधिकारी/ग्राम पंचायत अधिकारी को यह जिम्मेदारी देते हुए कहा कि सभी ग्राम सचिव अपने आवंटित ग्राम पंचायतों में तथा खण्ड विकास अधिकारी अपने ब्लाक मुख्यालय पर ही निवास करते हुए उक्त कार्य की निगरानी करेंगे। 
         बैठक में मुख्य विकास अधिकारी, प्रशिक्षु आई0ए0एस0, अपर जिलाधिकारी प्रशासन, उपायुक्त (श्रम-रोजगार), जिला पंचायत राज अधिकारी, समस्त खण्ड विकास अधिकारीगण मौजूद रहे।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।