उपासना स्थलों में पूजा और इबादत की मिले इजाजत - शिवपाल यादव - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 18 May 2020

उपासना स्थलों में पूजा और इबादत की मिले इजाजत - शिवपाल यादव

लखनऊ ब्यूरो


उपासना स्थलों में पूजा और इबादत की मिले इजाजत - शिवपाल यादव

मदिरालयों में भीड़ है और देवालय सूने पड़े हैं - शिवपाल यादव

जब मानवीय सामर्थ्य चूकने लगें तो बेहतर हो कि सभी उपासना स्थलों में स्वास्थ्य निर्देशों के साथ पूजा व इबादत की इजाजत दी जाए - शिवपाल यादव

                                                                                            

लखनऊ। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने मांग की है कि उपासना स्थलों में पूजा और इबादत की इजाजत मिले। बीजेपी सरकार पर प्रतिक्रिया देते हुए शिवपाल सिंह यादव ने ट्विटर हैंडल पर लिखा, “मदिरालयों में भीड़ है और देवालय सूने पड़े हैं।“

उन्होंने ट्वीट करके उपासना स्थलों में पूजा और इबादत की मांग की है। शिवपाल यादव ने ट्वीट किया है, ”मदिरालयों में भीड़ है व देवालय सूने पड़े हैं। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के बावजूद भी कोरोना का विस्तार जारी है। जब मानवीय सामर्थ्य व सीमाएं चूकने लगें तो बेहतर हो कि सभी उपासना स्थलों में स्वास्थ्य निर्देशों के साथ पूजा व इबादत की इजाजत दी जाए। शायद ईश्वर ही इस वैश्विक आपदा से निजात दिला सके।“

इससे पहले औरैया में मजदूरों की मौत को शिवपाल सिंह यादव ने दुर्भाग्यपूर्ण और हृदयविदारक बताया था। मजदूरों को श्रद्धांजलि देते हुए उन्होंने ट्वीट कर सरकार से सवाल किया था कि, ”यूपी के औरैया में हुए भीषण सड़क हादसे में 24 प्रवासी मजदूरों की मृत्यु दुखद, दुर्भाग्यपूर्ण व हृदय विदारक है- श्रद्धांजलि। आज इन गरीब प्रवासियों के हिस्से में लूटपाट, पुलिस की पिटाई, फटकार, अपमान, भूख व दुर्घटनाएं हैं और मांग सिर्फ यह है कि घर पहुंचा दो। इतनी असंवेदनशीलता क्यों?” वहीं शिवपाल यादव ने सवाल उठाते हुए सरकार से पूछा था कि मजदूरों के लिए वंदे भारत मिशन क्यों नहीं?

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।